गोंडा की महिलाओं से प्रधानमंत्री मोदी करेंगे मन की बात…

Prime Minister Modi
Gonda

गोंडा :। खबर यूपी के गोंडा से है जहां कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के बीच गोंडा की कुछ महिलाओं ने ऐसा कर दिया है जिसके चलते 26 जून को देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद इन महिलाओं से अपने मन की बात करने वाले हैं। महिलाओं ने आज जो मुकाम हासिल किया, वह बाकी लोगों के लिए किसी नजीर से कम नही है। गांव के बाहर 7 बीघे कि जो नर्सरी इन महिलाओं ने डेढ़ साल पहले किराए पर जमीन लेकर लगाई आज उस नर्सरी में अलग-अलग किस्म के तकरीबन डेढ़ लाख पौधे है।

हलधरमऊ ब्लाक की ग्राम पंचायत कमालपुर के मजरे विशुनपुर में रहने वाली 10 महिलाओं ने न सिर्फ एक स्वंय सहायता समूह का गठन किया, बल्कि उसके जरिए उन्होंने एक ऐसी नर्सरी तैयार की जिसमें आज की तारीख में 30 से 40 लाख रुपए की लागत के पौधे भी है। मनरेगा में स्वयं सहायता समूह के मिले कुछ पैसों से इन महिलाओं ने आज जो मुकाम हासिल किया, वह बाकी लोगों के लिए किसी नजीर से कम नही है। गांव के बाहर 7 बीघे कि जो नर्सरी इन महिलाओं ने डेढ़ साल पहले किराए पर जमीन लेकर लगाई आज उस नर्सरी में अलग-अलग किस्म के तकरीबन डेढ़ लाख पौधे है। जब की नर्सरी की कमाई से इन महिलाओं ने ट्रैक्टर भी खरीदा है जिससे बाकायदा नर्सरी की बागवानी को वह विस्तार दे रही हैं।

धनगर स्वयं सहायता समूह के नाम से चल रही नर्सरी की महिलाओं से 26 जून को प्रधानमंत्री सीधा संवाद करेंगे जिसे लेकर केवल इन महिलाओं ने ही नहीं बल्कि जिले भर के लोगों में जबरदस्त उत्सुकता का माहौल है। 26 जून को होने वाले प्रधानमंत्री के सीधे संवाद को लेकर जिलाधिकारी डॉ.नितिन बंसल और मुख्य विकास अधिकारी शशांक त्रिपाठी ने गांव पहुंचकर इन महिलाओं से उनका हाल जाना और गांव जाने वाली सड़क कि साफ सफाई करवाई। आपको बता दें कि 26 जून को प्रधानमंत्री जिस समय महिलाओं से सीधे रूबरू होकर मन की बात करेंगे उस समय जिले के सभी विधायक और सांसद भी यहां मौजूद रहेंगे। क्योंकि इन महिलाओं ने जो काम किया है उससे बाकी लोग भी प्रेरणा लेकर आपदा को अवसर में बदल सकते हैं। जैसा की इन महिलाओं ने किया।

वही मुख्य विकास अधिकारी शशांक त्रिपाठी ने कहा कि बहुत ही हर्ष का विषय है कि हमारे जनपद गोंडा के हलधरमऊ ब्लॉक के कमालपुर गांव में एक स्वंय सहायता समहू है धनगर स्वयं सहायता समूह जिससे कल प्रधानमंत्री सीधे सीधे बात करेंगे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से इस समहू ने नर्सरी पर बहुत अच्छा काम किया है बीते वर्ष फरवरी- 2019 से इन्होंने कार्य करना शुरू किया है समहू की 10 महिलाओं ने मनरेगा के माध्यम से जो इनको पौधे मिले थे उससे बहुत ही बढ़िया नर्सरी तैयार की है आज की डेट में इनके पास करीब 1 लाख 40 हजार पौधे तैयार है जिसको हम लोग वृक्षारोपण के लक्ष्य में लेते हुए मनरेगा के माध्यम से इनकी खरीद करेंगे जिससे इन महिलाओं को आत्मनिर्भर बनने में और सहायता मिलेगा।इन महिलाओं के द्वारा और भी अच्छे अच्छे कार्य किये गए है…सुनिये और क्या कुछ कहा मुख्य विकास अधिकारी शशांक त्रिपाठी गोंडा ने।

Report – अतुल कुमार यादव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

− 4 = 5