जाने पाकिस्तान और चीन के साथ सीमा विवाद पर क्या बोले रक्षा मंत्री

    rajnath singh speaks on border dispute
    image source - google

    आज रविवार को बीजेपी के वरिष्ठ नेता और वर्तमान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जम्मू कश्मीर जनसंवाद रैली को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि पहले जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 को लेकर अन्य देशों का समर्थन पाकिस्तान के साथ रहता था। लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हमें इस मुद्दे पर मुस्लिम देशों का भी समर्थन प्राप्त हुआ है।

    रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आगे कहा कि पहले कश्मीर में आजादी की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन हुए थे और पाकिस्तान व आईएसआईएस के झंडे देखे गए। लेकिन अब वहां केवल भारतीय ध्वज ही नजर आता है। वर्चुअल रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा आप बस इंतजार करें, जल्द ही पाकिस्तान के कब्जे वाले पीओके के लोग ही मांग करेंगे कि वह भारत के साथ रहना चाहते हैं पाकिस्तान के साथ नहीं और जिस दिन ऐसा होगा हमारी संसद का एक लक्ष्य पूरा होगा।

    चीन के साथ विवाद पर क्या बोले रक्षा मंत्री

    पिछले 2 महीनों से भारत का चीन के साथ सीमा को लेकर विवाद चल रहा है। इस विवाद को हल करने के लिए कमांडर लेवल की बैठक भी हो रही है। इस पर रक्षा मंत्री ने कहा कि चीन के साथ कूटनीतिक और सैन्य स्तर पर बातचीत चल रही है। चीन ने भी बातचीत के जरिए इस मुद्दे को समझाने की इच्छा जताई। मैं विपक्ष को सूचित करना चाहता हूं कि हमारी सरकार किसी को भी अंधेरे में नहीं रखेगी। मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि हम किसी भी स्थिति में राष्ट्रीय गौरव के साथ समझौता नहीं करेंगे।

    आत्मनिर्भर भारत पर बोले रक्षा मंत्री

    रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आत्मनिर्भर भारत मिशन को लेकर कहा कि हमारी सरकार ने फैसला किया है कि विदेशों से माल का आयात बंद किया जाना चाहिए। हमारे देश को दुनिया में एक आयात करने वाले देश के रूप में नहीं जाना जाना चाहिए। लेकिन भारत को एक निर्यातक देश के रूप में जाना जाना चाहिए।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    − 3 = 1