यूपी पुलिस ने पेश की शानदार मिशाल

उत्तर प्रदेश लखनऊ जनपद के क्षेत्र अलीगंज थाने में आज फिर यूपी पुलिस का सराहनीय कार्य सामने आया। लखनऊ पुलिस ने एक युवक का गिरा हुआ सोने का चैन उसे वापस देकर ईमानदारी की मिसाल पेश की है। आज कल ऐसी ईमानदारी बहुत ही कम देखने और सुनने को मिलती है। बता दें कुछ बेईमान पुलिस कर्चारियों की वजह से जो ईमानदार पुलिस कर्मचारी है उनका भी नाम खराब होता जा रहा है। ज्यादातर लोगो के मुँह से यही सुनने को मिलता है की पुलिस वाले बेईमान दलाल होते है। मगर ऐसा हर पुलिस वाला नहीं होता है। इस बात को आज उ0नि0 नैपाल सिंह अपनी ईमानदारी दिखा कर सिद्ध कर दिया है।

बता दे की जनपद थाना अलीगंज के चौकी प्रभारी गल्ला मंडी उप निरक्षक नैपाल सिंह अपने चौकी क्षेत्र अंतर्गत सीतापुर रोड के आस पास शान्ति व्यवस्था डियूटी के दौरान तैनात थे।अपनी ड्यूटी के दौरान पीली कोठी के पास उन्हें एक सोने की चैन पड़ी हुई मिली। चैन मिलने के आस-पास स्थानीय लोगो से काफी पूंछताछ के बाद लगभग एक घण्टे के अंदर चैन के सही मालिक का पता चल पाया। जिसकी चैन थी वह व्यक्ति विनोद कुमार अग्रवाल जो की A-1 गोपाल मोहन हाउसिंग सोसायटी-सीतापुर रोड लखनऊ का निवासी है।

दरोगा जी ने विनोद कुमार से सोने की चैन खोने के बारे में पूछा तो युवक ने बताया कि रास्ते में जाते समय उसकी सोने की चैन का कुंढा ढीला होने के कारण उसकी चैन गिर गयी थी। उसने चैन को बहुत ढूढने की कोशिश भी की थी। मगर उसको उसकी चैन नहीं मिली।जिससे वह बहुत परेशान था। पुलिस द्वारा पूछताछ करने के बाद युवक को उसकी सोने की चैन वापस कर दी गयी।

अपनी सोने की चैन वापस पाकर युवक व उसके परिजन बहुत खुश हुए। युवक ने दरोगा जी का धन्यवाद् करते हुए कहा कि अभी भी उन्हेँ यकीन ही नहीं हो रहा है कि उनकी सोने की चैन वापस मिल गई है । युवक के परिजनों ने कहा कि अगर यह सोने की चैन पुलिसवालो के अलावा किसी अन्य को मिली होती तो शायद हमे कभी वापस नहीं मिल पाती, उन्होंने कहा की लोग कुछ भी कहें ईमानदारी आज भी जिन्दा है। परिजनों ने ईमानदार दारोगा को धन्यवाद दिया और ढेर सारी शुभकामनाएं भी दी।