घोटाले के चलते UPPCL के कर्मचारी अनिश्चित कालीन धरने पर

google
  • बिजली कर्मचारियों ने शक्ति भवन से की धरने किया शुरुआत और निकाला पैदल मार्च
  • कर्मचारियों के पैसे की वापसी की जिम्मेदारी जब सरकार लेगी तभी समाप्त होगा धरना

उत्तर प्रदेश पावर कार्पोरेशन लिमिटेड (UPPCL) के कर्मचारियों के भविष्य निधि में हुए 2600 करोड़ के घोटाले को लेकर 14 नवम्बर को बिजली कर्मचारियों ने उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में सड़कों पर उतर पड़े। इन सभी लोगों ने शक्ति भवन से अपना अनिश्चित कालीन धरने की शुरुआत किया और पैदल मार्च निकाला। विधुत कर्मचारी संयुक्त मोर्चा के अध्यक्ष व कर्मचारी नेता शैलेन्द्र दुबे ने इस पैदल मार्च की अगवाई किया।

 

 

संविदा पर तैनात डॉक्टर आज हड़ताल पर

विधुत कर्मचारी संयुक्त मोर्चा के अध्यक्ष शैलेन्द्र दुबे ने कहा कि “भविष्य निधि घोटाले में जहा एक तरफ डीएचएफएल कम्पनी ने पैसा वापसी की बात कही है लेकिन बिजली कर्मचारियों के पैसे की वापसी की जिम्मेदारी जब सरकार लेगी तभी ये अनिश्चित कालीन धरना समाप्त होगा”। साथ ही उन्होंने बिजली कर्मचारियों के पैसे को लेकर पीएफ का गजट नोटिफिकेशन जारी करने की भी मांग किया है।