विदेशी ऑनलाइन व्यापार के खिलाफ भारत बंद करेंगे व्यापारी

google

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के अमीनाबाद परिक्षेत्र में अखिल भारतीय उधोग व्यापार मंडल के व्यापारियों ने जन जागरूकता पैदल मार्च निकाला। अखिल भारतीय उधोग व्यापार मंडल ने विदेशी बहुराष्ट्रीय कंपनियों द्वारा ऑनलाइन व्यापार में की जा रही मनमानी और बेलगाम रवैये के खिलाफ 15 दिसंबर को अपने व्यापारी प्रतिष्ठानों को बंद करने का फैसला किया है इससे वह केंद्र सरकार का ध्यान इस तरफ लाने का प्रयास करेंगे।

google

अखिल भारतीय उधोग व्यापार मंडल के सैकड़ों व्यापारियों ने 16 नवम्बर को 2:30 बजे नज़ीराबाद बाजार से ज़ोरदार पैदल निकाला। मार्च का नेतृत्व राष्ट्रीय अध्यक्ष संदीप बंसल ने किया। इस पैदल मार्च का समापन मौलवीगंज के इंदिरा मार्केट में हुआ। इंदिरा मार्केट के महिला कालेज की छात्राओं को हज़ारों पंपलेट वितरित किये गए।

google

अखिल भारतीय उधोग व्यापार मंडल के राष्ट्रीय अध्यक्ष संदीप बंसल ने इस दौरान पैदल मार्च को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज देश में आवश्यकता है कि युवाओं को इन ऑनलाइन कंपनियों की सच्चाई से अवगत कराया जाए। इसी लिए संगठन पूरे देश के सभी स्कूलों और विद्यालयों के छात्र छात्राओं को पर्चे वितरित करेगा। जिस बाजार में स्कूल और विद्यालय होंगे उस बाजार के व्यापारियों की पूरी ज़िम्मेदारी होगी कि वह हर दूसरे दिन स्कूल के छात्र छात्राओं को ऑनलाइन व्यापार के दुष्प्रभाव वाले पर्चे वितरित करें।

संदीप बंसल ने कहा कि बाज़ारों के आप पास की कालोनियों और मुहल्लों में भी ऑनलाइन कंपनियों के बहिष्कार के पर्चे बांटे जाएंगे और राष्ट्रहित में देश के सभी लोगों से ऑनलाइन कंपनियों का इस्तेमाल बंद करने की अपील की जाएगी।

अमेजॉन व फ्लिपकार्ट के विरोध में उतरा आदर्श व्यापार मंडल

पैदल मार्च में प्रदेश मंत्री सुरेंद्र मोदी, युवा के अध्यक्ष आसिम मार्शल, उपाध्यक्ष पदम् जैन, मो. सालम, जितेंद्र कनौजिया, संजय सोनकर, महामंत्री कन्हैयालाल मौर्य, महिला प्रभारी एकता अग्रवाल, वीनू मिश्रा, साबिर हुसैन, फ़राज़ खान, परवेज़ अहमद, वकील अहमद समेत सैकड़ों व्यापारी शामिल हुए।