लोनी में बनने जा रही है प्रदेश की पहली आधुनिक गौशाला

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद नगर में स्थित लोनी में प्रदेश का पहला आधुनिक गौशाला बनाने जा रहा है। गाजियाबाद नगर पालिका ने बताया है की दिल्ली के डेयरी संचालक अधिकतर दूध न देने वाली गायों को लोनी की ओर हांक देते हैं। जिसके कारण लोनी में सैकडों आवारा गाय घूमती रहती है। जिसके कारण असामाजिक तत्व चोरी छिपे उनका वध कर देते थे। जिसके कारण क्षेत्र का सांप्रदायिक सामंजस्य प्रभावित होता था। इस वजह से हिन्दु संगठन के लोग आए दिन हंगामा करते थे।

इसलिए आवारा गायों के लालन पालन के लिए नगर पालिका ने करीब छह माह पूर्व ही लोनी की न्यू आनन्द विहार कॉलोनी में करीब डेढ हजार वर्ग मीटर भूमि पर 65 लाख रुपये की लागत से गौशाला का निर्माण कराया था। इस समय उस गौशाला में सैकडों की संख्या में गायें रहती है। लेकिन इसके बाद लोनी में एक बडी गौशाला की नितांत आवश्यकता थी। इसलिए नगर पालिका ईओ के अथक प्रयास से लोनी की रेल विहार कॉलोनी में एक आधुनिक गौशाला का निर्माण कार्य शुरू कराया है।

बता दें की इस गौशाला के निर्माण के लिए करीब डेढ़ करोड रुपये की लागत लगाई गई है। यह गौशाला प्रदेश की पहली ऐसी गौशाला है जिसको शासन से इतना बडा बजट मिला है। इस गौशाला के लिए अलग से एक केचर वाहन होगा। जिसकी धनराशि भी शासन ने नगर पालिका को दे दी है। बता दें कि इससे पूर्व नगर पालिका में चल रही गौशाला भी जनपद से सबसे अच्छी गौशाला में से एक है।

बता दें नगर पालिका ईओ शालिनी गुप्ता ने शासन से लोनी नगर पालिका क्षेत्र में एक आधुनिक गौशाला स्थापित करने के लिए धनराशि की मांग की थी। ईओ के अथक प्रयास के बाद शासन ने लोनी की रेल विहार कॉलोनी में करीब चार बीघा भूमि पर आधुनिक गौशाला बनाने की अनुमति प्रदान कर दी है। शालिनी गुप्ता ने बताया कि इस गौशाला के लिए शासन से 1.48 करोड रुपये का बजट स्वीकृत हो गया है। जबकि आवारा गौवंश को गौशाला तक लाने के लिए केचर वाहन के लिए भी करीब 17 लाख रुपये की धनराशि शासन ने दे दी है। गौशाला का निर्माण कार्य शुरु करा दिया गया है। इसको छह माह तक पूरा कर दिया जायेगा।