ड्यूटी से निकाले जाने पर सिपाही ने विधानसभा गेट के सामने खाया जहर

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ विधानसभा के गेट नम्बर 4 के सामने एक 28 वर्षीय युवक ने ड्यूटी से निकाले जाने के कारण जहर खा कर आत्महत्या करने की कोशिश की। जानकारी के मुताबिक पता चला है की युवक कैंट थाना क्षेत्र नीलमाथा का निवासी है। वह युवक विधान सभा में व्यवस्था अधिकारी कार्यालय में तैनात था। उसको ड्यूटी के दौरान शराब पीने के आरोप में ड्यूटी से निकाल दिया गया था।

बात दे की विधान सभा में व्यवस्था अधिकारी कार्यालय में तैनात सिपाही का नाम प्रेम चन्द्र पाल है। बताया जा रहा है की उसको ड्यूटी के दौरान शराब पीने के आरोप में बर्खास्त किया गया था। इस कारण ड्यूटी से बर्खास्त किए जाने से आहत होकर प्रेमचंद ने खुद को मौत के हवाले करने की कोशिश की। घरवालों ने प्रेमचंद को लखनऊ के ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया है जहां डॉक्टरों का कहना है कि जहरीला पदार्थ खाने की वजह से उसकी हालत गंभीर है।

सुरक्षा आयुक्त ने पुलिसकर्मियों को अपराध करने वाले गिरोह पर सख्त नजर रखने के दिए निर्देश

प्रेमचंद के घर वालो का कहना है की प्रेमचंद को जबरदस्ती फंसाया गया है। उन्होंने बताया की प्रेमचंद को 6 अगस्त 2018 को ड्यूटी के दौरान शराब पीने के आरोप में बर्खास्त किया गया था। जब की वह कभी शराब पीता ही नहीं है। एक तरह से देखा जाये तो घर वालो का कहना सही निकला है। क्योकि सिविल हॉस्पिटल में किये गए मेडिकल परीक्षण में एल्कोहल की पुष्टि नही हुई थी, तो दूसरी बार दबाव में कराई गई दूसरी रिपोर्ट में एल्कोहल की पुष्टि दिखा केे कार्यवाही की गई थी।