लखनऊ के सरकारी स्कूलों में बांटे गए जूतों की होगी जांच

  • बांटे गए मुफ्त जूते, मोज़े और स्कूल बैगों की पूरे राज्य में कराई जाएगी जांच
  • 4 सदस्यों की टीम 7 दिनों तक 3 प्राइमरी स्कूल तथा जूनियर स्कूल की करेगी जांच
  • वितरण कंपनी को 15 दिनों में सारा सामान वापस बदल कर पड़ेगा देना

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के सरकारी स्कूलों में बांटे गए मुफ्त, जूते मोज़े और स्कूल बैगों की जांच कराई जाएगी। यदि किसी भी सामान में 1 साल के भीतर कोई कमी आती है तो दुबारा मुफ्त में सामान बदल कर देना पड़ेगा।

डेंगू को लेकर मुकेश कुमार सिंह ने सभी स्कूलों को दिया निर्देश

लखनऊ के मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशक उमेश शुक्ला की अध्यक्षता में मंडल स्तर पर 4 सदस्यों की टीम बनाई गई है जो लखनऊ के सभी सरकारी स्कूलों में जाकर जांच करेगी। यह टीम लखनऊ के सरकारी स्कूलों में 7 दिनों तक 3 प्राइमरी स्कूल तथा जूनियर स्कूल की जांच करेगी। जांच के दौरान अगर किसी भी प्रकार की कमी पायी जाती है तो जूते, मोज़े और बैग वितरण करने वाली कंपनी को 15 दिनों के अंदर मुफ्त में सारा सामान वापस बदल कर देना पड़ेगा।