नमामि गंगे परियोजना के तहत प्लांट के संचालन का आदेश

जलशक्ति मंत्री डा.महेन्द्र सिंह ने शुक्रवार को प्रयागराज में जलशक्ति विभाग के सिवेज ट्रीटमेंट प्लांट (STP) का निरीक्षण किया। इस दौरान जलशक्ति मंत्री ने नमामि गंगे परियोजना के तहत सलोरी में निर्मित इस प्लांट को सुचारू रूप से संचालन करने के निर्देश दिए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2014 में न्यूयार्क में भारतीय समुदाय को सम्बोधित करते हुए कहा था कि “अगर हम इसे साफ करने में सक्षम हो गए तो यह देश की 40% आबादी के लिए एक बड़ी मदद साबित होगी। अतः गंगा की सफाई एक आर्थिक एजेंडा भी है”। इसी सोच के साथ प्रधानमंत्री ने गंगा नदी के प्रदूषण को ख़त्म करने तथा नदी को पुनर्जीवित करने के लिए ‘नमामि गंगे परियोजना’ का शुभारंभ किया था। केंद्र सरकार ने 7 जुलाई 2016 को इस परियोजना कि मंज़ूरी दिया था।

गंगा नदी की कुल लम्बाई 2525 किलोमीटर है और बेसिन 1.6 मिलियन वर्ग किलोमीटर का है। गंगा नदी से 468.7 बिलियन मीट्रिक पानी पूरे में प्रवाहित होता है जो कुल जल स्रोत का 25.2% हिस्सा है। गंगा नदी के बेसिन में भारत की 45 करोड़ आबादी बसती है।