सरकारी विभाग ही बिजली विभाग को दिखा रहे हैं ठेंगा

● बिजली बकायदारों के खिलाफ सरकार ने कसा शिकंजा
● समय पर भुगतान न करने पर बिजली की काट दी जाएगी 
● सबसे ज्यादा बिजली का बिल पुलिस विभाग का बकाया

उत्तर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा जहां एक तरफ बिजली की चोरी रोकने के लिए आये दिन नए-नए नियम लागू करते रहते है, और जिनकी बिजली की दरे बाकि है, उनकी बिजली कटवाने का आदेश देकर सरकार का खजाना भरने की कोशिश में जुटे है। वही कुछ सरकारी विभाग सरकार के इस आदेश को नजरंदाज करते नजर आ रहे है। बता दें की बिजली की दरें ज्यादातर सरकारी विभाग में ही बकाया है। ऐसे लोगो के साथ सरकार के नियम नहीं चलते बस केवल आम जनता के लिए ही इनके नियम है। यदि आम जनता बिजली की दरें सरकार के द्वारा दिए हुए उचित समय पर भुगतान नहीं करते तो सरकार उनके लिए जुर्माना, जेल बिजली कटौती जैसी नियम लागू कर देते है।

बिजली बकायदारों के खिलाफ कसा शिकंजा

ऐसे ही मामला उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ का है जहाँ जनपद में बिजली के बड़े बकायेदारों के विरुद्ध बिजली विभाग ने अभियान चलाया हुआ है। इस अभियान के तहत आम उपभोक्ता भले बिजली का बिल जमा कर दे रहे हैं। लेकिन सरकारी विभाग ही बिजली विभाग को ठेंगा दिखा रहे हैं। वहीं सबसे ज्यादा बिजली दर बकाया पुलिस विभाग का है। बिजली बकाये दारों के खिलाफ विद्युत विभाग के द्वारा अभियान चलायाजा रहा है। बिजली विभाग ने बकायेदारों पर शिकंजा कसा है। बिजली विभाग के अधीक्षण अभियंता अशोक कुमार ने बताया कि जनपद में डेढ़ लाख बिजली के बकाएदार हैं। उपभोक्ताओं से बिल की वसूली के लिए गाड़ियां लगाई गई हैं।

समय पर भुगतान न करने वालो का कटेगा बिजली कनेक्शन 

बता दें की जिस भी उपभोक्ता का बिजली का बिल(10000) से ऊपर है, उनकी लाइन डिसकनेक्ट की जा रही हैं।बिजली विभाग के अध्यछ ने बताया की पुलिस और स्वास्थ्य विभाग का सबसे ज्यादा बिजली का बिल बकाया है। बताते चलें कि अधीक्षण अभियंता का कहना है कि आम उपभोक्ता तो अपना बिल समय पर जमा कर दे रहे हैं।

वहीं कुछ सरकारी विभाग वाले भी अपना बिल जमा कर दिया है। लेकिन सबसे ज्यादा बिजली का बिल बकाया पुलिस विभाग का है। बिजली विभाग ने बताया की पुलिस विभाग का बिल करीब(23 करोड़ 19 लाख) रूपये से अधिक है। इसके अलावा जिला अस्पताल का भी दो करोड़ 67 लाख रुपये से अधिक का बिल बकाया है। अधीक्षण अभियंता का कहना है कि अगर अब बिजली का बिल जमा नहीं करते है, तो इन विभागों की बिजली डिस्कनेक्ट की जाएगी। जनपद में बिजली बकायेदारों के खिलाफ विद्युत विभाग द्वारा चलाए जा रहे अभियान से हड़कंप मचा हुआ है ।