होम्योपैथिक में हुआ 3 करोड़ से अधिक वेतन का घोटाला

उत्तर प्रदेश में बहुत से होम्योपैथिक अस्पतालों में कर्मचारियों के वेतन को लेकर घोटाला हुआ है। आउटसोर्सिंग संस्था डिग्नेस ने 500 कर्मचारियों का वेतन हड़प लिया है। इन सभी बेरोज़गार कर्मचारियों को एक साल से वेतन नहीं मिला है। डिग्नेस सभी कर्मचारियों का करीब 3.57 करोड़ का वेतन लेकर फरार हो गई है।

आउटसोर्सिंग संस्था डिग्नेस पर आरोप लगा है कि उसने कर्मचारियों को सिर्फ 10 माह का ही वेतन दिया जबकि सभी कर्मचारियों से 21 माह काम करवाया। जिसका मतलब है कि इन कर्मचारियों को 11 माह से वेतन नहीं मिला है। इन कर्मचारियों के ईपीफ का भी कोई पता नहीं है।

UPPCL घोटाले के मालमे में कंपनी के पूर्व एमडी गिरफ्तार

संयुक्त स्वास्थ्य आउटसोर्सिंग संविदा कर्मचारी संघ इन कर्मचारियों के वेतन ना मिलने की शिकायत अब मुख्यमंत्री, आयुष मंत्री, मुख्य सचिव व श्रमायुक्त से करने वाला है। संघ के अध्यक्ष रितेश मल्ल व महामंत्री सच्चितानन्द मिश्र का कहना है कि कर्मचारियों का वेतन देने के लिए डिग्नेस फार्म से बहुत बार कहा गया लेकिन उसने कोई बात नहीं सुना। सभी कर्मचारियों को जनवरी 2018 में तैनात किया गया था और सितम्बर 2019 में इनका टेंडर ख़त्म हो गया। जिला होम्योपैथिक अधिकारी के कहने पर सभी कर्मचारी अभी भी संबन्धित अस्पतालों में कार्य कर रहे हैं।