अयोध्या फैसला: अल इमाम वेलफेयर एसोसिएशन ने कहा- हम संतुष्ठ नहीं

ayodhya dispute history
Image source - Google

अयोध्या मामले पर भले ही सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद हिन्दू और मुस्लिम दोनों में खुशी का माहौल हो पर इसके बाद भी समाज में कुछ ऐसे भी लोग हैं जो इस फैसले से संतुष्ठ नहीं है। इन लोगों के बयान भी आना शुरू हो गये हैं। लखनऊ में अल इमाम वेलफेयर एसोसिएशन ने जिम्मेदार पक्षकारों और मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड से अयोध्या मामले में आये फैसले के बाद रिव्यु पिटीशन दाखिल की अपील की है

एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष इमरान हसन सिद्धकी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि, हम कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हैं, लेकिन हम लोग फैसले से असंतुष्ट हैं, क्योंकि सुप्रीम कोर्ट ने जिन तर्को को सामने रखा उस हिसाब से फैसला अनुकूल नहीं है।

इमरान हसन सिद्धकी ने कहा कि, सुप्रीम कोर्ट ने भी माना है कि बाबरी मस्जिद ढहाकर वहां मूर्तिया रखी गयी थी। कोर्ट को उन लोगों पर कार्यवाही का आदेश देना चाहिए था जिन्होंने मस्जिद को तोड़ा था।