अयोध्या फैसला:- सोशल मिडिया पर कार्यवाही 90 गिरफ्तार 77 हिरासत में

Ayodhya verdict social media
image source google

अयोध्या के रामजन्मभूमि – बाबरी मस्जिद विवाद का फैसला आ जाने के बाद सुरक्षा को देखते हुए जिलों में धारा 144 लगायी गयी व सोशल मीडिया पर कड़ी निगरानी भी रखी जाने लगी। जिसके चलते जो कोई भी सोशल मीडिया पर कोई आपत्तिजनक पोस्ट या कोई अफवाह डालेगा उस पर कार्यवाही के कड़े निर्देश दिए गए थे। इसी का पालन करते हुए यूपी पुलिस ने दो दिन में ही करीब 8275 सोशल मीडिया पोस्ट के खिलाफ कार्रवाई की, जिनमे 4563 पोस्ट पर रविवार को ही कार्रवाई हो गयी।

सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट करने व पटाखे फोड़कर जश्न मनाने के आरोप में 90 लोग गिरफ्तार किये गए। आपको बता दें की अकेले उत्तर प्रदेश में ही 77 लोग हिरासत में लिए गए हैं।

केंद्रीय गृहमंत्रालय के अधिकारी के मुताबिक देश के किसी भी हिस्से से किसी गलत घटना की सूचना नहीं मिली है। इसके अलावा खुद गृहमंत्री अमित शाह ने अलग-अलग राज्यों के मुख्यमंत्री से बात करते हुए शांति व्यवस्था पर कड़ी नज़र रखने को कहा था।

पुलिस विभाग की सोशल मीडिया निगरानी शाखा ने रविवार को ही 22 मुक़दमे दर्ज कर 40 लोगों को हिरासत में ले चुकी थी। इसके साथ ही बात करें अगर अखिल भारतीय हिंदू महासभा का जो स्थानीय कार्यालय है उसे भी सील कर दिया गया और उसके राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अशोक शर्मा को भी हिरासत में लिया गया।

जेल वार्डन भी निलंबित

बात की जाए मध्यप्रदेश के ग्वालियर में जेल वार्डन महेश की तो उन्हें प्रतिबंध के चलते भी पटाखे फोड़ने का आरोपी पाया गया। जिसपर जेल सुप्रीटेंडेट मनोज कुमार साहू के मुताबिक जानकारी मिलने पर महेश को निलंबित कर दिया गया।