पुलिस हिरासत में 45 वर्षीय अधेड़ की मौत

उत्तर प्रदेश के अमेठी में पीपरपुर थाने की पुलिस की हिरासत में एक 45 वर्षीय अधेड़ की मौत का मामला सामने आया है। पुलिस ने इस अधेड़ को 26 लाख की लूट के शक के आधार पर गिरफ्तार किया था। पुलिस 3:00 बजे रात को घर से उठा ले गई थी। सुबह परिवार वालों को फोन पर खबर मिली कि मृतक की डेड बॉडी जिला अस्पताल सुल्तानपुर में है आकर ले जाये।

प्रतापगढ़ के अंतू थाना क्षेत्र के बाबूगंज बाजार में सत्यप्रकाश शुक्ला (उम्र 45 वर्ष) ने घर पर यूको बैंक खोल रखा है। 5 अक्टूबर को यूको बैंक के मैनेजर मुनीश कुमार गौतम और कैशियर अंशु सिंह कार से 26 लाख रूपए लेकर अंतू और धौरहरा होते हुए भादर आ रहर थे लेकिन पीपरपुर थाना के ग्राम परसोइया के पास बाइक सवार तीन बदमाशों ने नगदी लूट लिया। पुलिस छान बीन में लगी हुई है लेकिन अभी तह इस मामले का खुलासा नहीं हुआ है।

सत्यप्रकाश शुक्ला के परिजनों का आरोप है कि किस आधार पर 3:00 बजे रात में पुलिस उठा ले गई जबकि उन्होंने अपने मकान में साजन ऑटो पार्ट्स की दुकान खोल रखी थी और वही बैठते थे। यदि पूछताछ करना ही था तो उनसे दिन में भी कर सकते थे। परिजनों का पुलिस पर आरोप है कि हमेशा की तरह अपनी नाकामयाबी छिपाने के लिए पुलिस सीधे साधे लोगो को परेशान करती है और सत्यप्रकाश शुक्ला की मौत ने आज यह साबित कर दिया है।