श्री राम की प्रतिमा व अयोध्या में पर्यटन केंद्र के लिए 447 करोड़ रूपए मंजूर

शुक्रवार को मुख्यमंत्री योगी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में श्री राम की भव्य प्रतिमा अयोध्या में लगाने के लिए और पर्यटन से जुड़े केंद्रों की स्थापना के लिए 447 करोड़ रूपए की जमीन खरीदने को मंजूरी मिल गयी है। सीएम योगी ने पहले ही श्री राम की भव्य प्रतिमा अयोध्या में लगाने का ऐलान कर दिया था। अब इस पर मोहर भी लगा दी है। कल हुई कैबिनेट की बैठक में 7 प्रस्ताव पास हुए है। योगी सरकार द्वारा अयोध्या का सुंदरीकरण करने की तैयारियां शुरू कर दी गयी है। जल्द ही अयोध्या का विकास होना प्रारम्भ होगा और श्री राम की नगरी देश का सबसे बड़ा पर्यटन स्थल बनेगी।

प्रतिमा के लिए जमीन

अयोध्या में श्री राम की भव्य प्रतिमा तो लगायी ही जाएगी और इसके अलावा डिजिटल म्यूजियम,लैंड स्केपिंग ,पर्यटन केंद्र,लाइब्रेरी,फूड प्लाजा आदि का भी निर्माण कराया जायेगा। जिसके लिए 61.387 हेक्टेयर भूमि मीरपुर में ली जाएगी और इस जमीन की कीमत 447.46 करोड़ रूपए है। कैबिनेट में इस प्रस्ताव के पास होने के बाद अब अयोध्या का विकास तेजी से होगा तथा राम जन्म भूमि का फैसला हिन्दू के पक्ष में आने पर भगवन श्री राम का भव्य
मंदिर भी जल्द बन कर तैयार होगा। इसके दर्शन करने के लिए देश विदेश से लाखो लोग आएंगे।

वाराणसी में बनेगा पर्यटन पुलिस थाना

वाराणसी में देश विदेश के सैलानी बड़ी संख्या में जाते है। ऐसे में पर्यटकों को सुरक्षा प्रदान करने के लिए सरकार ने वाराणसी में पर्यटन पुलिस थाना बनाने का फैसला किया है।इस थाने को बनाने के लिए सारनाथ में 650 वर्ग मीटर जमीन गृह विभाग को सौपी जानी है। ये थाना लालपुर-पांडेयपुर नाम से खुलेगा। साथ ही कैबिनेट की बैठक में 31 दिसम्बर 2016 तक के ट्रैफिक से जुड़े अपराधों को माफ़ करने का फैसला लिया है। जिससे 107 व 109 से जुड़े 20 हजार मुकदमे ख़त्म हो जायेंगे।