पेट्रोल गोदाम में लगी आग, तीन फायर कर्मी झुलसे

उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जनपद के हथिगवां थाना क्षेत्र के प्रयागराज-लखनऊ हाईवे पर बिसहिया गांव के पास अवैध रूप से डीजल, पेट्रोल का कारोबार चल रहा था। इसके लिए एक व्यक्ति ने गोदाम बनवा रखा था। गोदाम में शनिवार की देर रात अचानक आग लग गई। आसमान छूती लपटों को देख हाईवे पर आवागमन रुक गया। सूचना पर पहुंची फायर ब्रिगेड की कई गाड़ियां करीब 10 घंटे की मशक्‍कत के बाद आग पर काबू पा सकीं। हालांकि आग अब भी गोदाम के एक कोने पर लगी है जिसे बुझाने का प्रयास किया जा रहा है। आग लगने के दौरान वहां अफरा-तफरी का माहौल रहा। आग शार्ट सर्किट से लगी थी। आग बुझाने गए तीन फायर कर्मी भी झुलस गए। उनका इलाज कराया गया।

सूचना पर एसडीएम कुंडा और भारी पुलिस बल के साथ फायर ब्रिगेड की आधा दर्जन गाड़ियां मौके पर पहुंची और हाईवे को आग बुझने तक सील कर दिया गया। लगभग छह घंटे राजमार्ग सील रहा, वाहनों को रूट डायवर्ट करके दूसरे रास्तों से निकाला गया साथ ही आसपास के घरों को खाली कराया गया।

कुली नंबर 1 मूवी के सेट पर शूटिंग के दौरान लगी आग

बढ़ती आग को देख कर सहमे लोग

बता दें की कुंडा बिसहिया निवासी लालता प्रसाद गुप्‍त पुत्र साहबदीन का अवैध रूप से पेट्रोल व डीजल का गोदाम था। उसमें आग की सूचना पर पहुंची पुलिस के अनुसार रविवार की भोर में चार बजे आग लगी। हालांकि स्‍थानीय लोगों का कहना है कि रात करीब एक बजे आग की लपटें देखी गईं। बताया जा रहा है कि संदिग्ध दशा में लगी आग की लपटें इतनी तेज थीं कि आसपास के दो किलोमीटर क्षेत्र में उजाला हो गया। आग लगने की जानकारी होते ही आसपास के जनपदों की फायर ब्रिगेड की गाड़ियां मौके पर बुला ली गई। एसडीएम सीओ समेत आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए।

आग बुझाने में तीन फायर कर्मी झुलसे

आग बुझाने के दौरान दो फायर ब्रिगेड कर्मी भी झुलस गए। आग बुझाने में झुलसे महंथू और पुत्तम को इलाज के लिए सीएससी कुंडा में भर्ती कराया गया। प्राथमिक उपचार के बाद उन्‍हें फायर स्टेशन भेजा गया। वहीं कुंडा फायर ब्रिगेड में तैनात अनिल सिंह मामूली रूप से झुलसे हुए थे। उनका मौके पर ही प्राथमिक उपचार किया गया। वह फिर आग बुझाने में लगे रहे। उधर आग बुझाने के दौरान प्रशासन ने प्रयागराज-लखनऊ हाईवे पर यातायात को बंद कर दिया था। दोनों तरफ वाहनों की लंबी लाइन लग गई।

आग बुझने के बाद हाईवे पर यातायात हुआ बहाल

आखिर 10 घंटे की मशक्‍कत के बाद फायर ब्रिगेड कर्मियों ने डीजल, पेट्रोल के गोदाम में लगी आग पर काबू पाया। आग बुझने के बाद प्रयागराज-लखनऊ हाईवे को चालू किया गया। करीब 10 घंटे तक हाईवे जाम रहा।। मौके पर मौजूद प्रशासनिक अधिकारियों ने राहत की सांस ली।

तेज बारिश में भी आग पर काबू पाने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी। रविवार को सुबह लगभग 10 बजे आग पर काबू पाया गया। मौके पर जिला प्रशासन के आला अधिकारी जांच में जुटे हैं। आग बुझाने के दौरान दो फायरब्रिगेड कर्मी झुलस गए, जिन्हें इलाज के लिए सीएचसी कुंडा ले जाया गया। विस्फोट के चलते दो मकान गिर गए, कोई जन हानि नहीं हुई। लाखों के नुकसान का अनुमान लगाया जा रहा है।

लोगों का कहना है कि प्रशासन की शह में कई वर्षों से अवैध तेल का गोरखधंधा किया जा रहा है। जिस पर प्रशासन कोई कार्यवाही नहीं की गयी थी। यदि समय रहते कार्रवाई की गई होती तो इस तरह की घटना से बचा जा सकता था। लगभग 15 वर्ष पहले इसी गोदाम से मिलावटी डीजल और पेट्रोल का सैकड़ो ड्रम का जखीरा बरामद हुआ था। आग की लपटें 50 से 100 फिट तक ऊपर उठ रही थी। आग के चलते सैकड़ों की संख्या मे रखा तेल का ड्रम बाहर राजमार्ग पर फटा ।

उप जिलाधिकारी कुंडा मोहनलाल गुप्ता का कहना है कि हाईवे के किनारे एक मकान मे अवैध डीजल और पेट्रोल का गोदाम बनाया गया था, जिसकी जानकारी पहले से नहीं थी। शार्ट सर्किट के चलते अवैध तेल के भंडारण गोदाम में आग लगने के बाद मामला संज्ञान में आया है आग पर काबू पा लिया गया है।