बिजली चोरी और मीटर से छेड़खानी करने वालों की अब खैर नहीं

बिजली चोरी पर विभाग ने लगाम कसने की पूरी तैयारी कर ली है। अब खासकर मीटर से छेड़खानी कर बिजली चोरी करने वालों की खैर नहीं होगी।। अगर मीटर से छेड़खानी की तो सीधे लखनऊ बने कंट्रोल रूम सूचना पहुंच जाएगी।अब जो शहर में स्मार्ट मीटर लग रहे है वो कई खूबियों वाले हैं। इससे न केवल बिजली निगम के कर्मचारियों को आराम मिलेगा बल्कि बिजली उपभोक्ताओं को भी आसानी होगी।

अगर उपभोक्ताओं को बिल पता करना हो या कोई अन्य समस्या हो तो तत्काल ऑनलाइन माध्यम से इसकी शिकायत की जा सकेगी। मंगलवार को चीफ इंजीनियर तारिक मतीन ने स्मार्ट मीटर के बारे में जानकारी दी।

हर घर में होगी बिजली, 3 साल के अंदर आपके घर में लगेंगे रिचार्ज वाले मीटर

चीफ इंजीनियर तारिक मतीन ने कहा कि शुरुआत में स्मार्ट मीटर शहरी इलाकों में लगाए जा रहे हैं। एसई शहर एनके मिश्र ने जानकारी दी कि 6000 स्मार्ट मीटर आ गए हैं। मीटर लगाने वाली फर्म सर्वे कर रही है और आने वाले कुछ दिनों में मीटर मंगा कर पूरे शहर में लगा दिए जाएंगे। इस स्मार्ट मीटर की खूबी यह होगी कि जिसका बिल बकाया होगा उसका रिमोट से कनेक्शन काटा जा सकेगा। साथ ही अगर स्मार्ट मीटर से सम्बंधित किसी भी प्रकार की छेड़खानी हुई तो लखनऊ बने कंट्रोल रूम में इसकी सूचना पहुंच जाएगी।

स्मार्ट मीटर के उपभोक्ताओं को मोबाइल पर एक ऐप अपलोड करना होगा। उस ऐप में उपभोक्ता आईडी नंबर और मीटर नंबर दर्ज करने के बाद स्मार्ट मीटर एप्लीकेशन से कनेक्ट हो जाएगा। चीफ इंजीनियर ने बताया कि शुरुआती चरण में जिन इलाकों में बिजली चोरी, कटियामारी की समस्या अधिक है, वहां स्मार्ट मीटर लगाए जा रहे हैं। उन्होंने स्मार्ट मीटर दिखाते हुए कहा कि इसमें एक टेलीकॉम कंपनी का सिम लगा है जो सीधे सर्वर से जुड़ा है।