बढ़ी प्यार की मंहगाई कैसे, प्रेमी जरूर पढ़े

भारत में प्यार-मोहब्बत का दौर बहुत तेजी बढ़ता जा रहा है। देश के युवा और युवतियों के साथ-साथ नाबालिक लड़के और लड़कियां भी इस दौर में बहुत तेजी से आगे बढ़ रहे हैं। लड़के जैसे ही कक्षा 9 या 10 में पहुंचते है वो इस दौर के दौड़ में भाग लेने के लिए अपना नामांकन करवाना शुरू कर देतें है। नामांकन करवाने के बाद दौड़ में विजेता बनने की प्रैक्टिस बहुत ही अच्छे से पूरे तन,मन और धन के साथ करने लगते हैं। हमारे बड़े-बुजुर्गों का कहना है की अगर हम किसी काम को पूरे तन,मन और धन से करेंगे तो हमारा दिमाग दूसरे कामों से अपने आप हट जाता है यह बात यहाँ पर बिल्कुल सटीक बैठती है। जब लड़के प्यार के दौड़ में विजेता बनने की प्रैक्टिस पूरे तन,मन और धन के साथ करने लगतें है तो उनका दिमाग अपनी पढाई से अपने आप हट जाता है। जिसका परिणाम यह मिलता है की पढाई में उनके रिजल्ट्स निगेटिव आने शुरू हो जातें हैं।

अगर हम बात करें वर्तमान समय की, तो हमारे देश के बहुत ही कम प्रतिशत लोग होंगे जो प्यार-मोहब्बत के दौर के शिकार नहीं होंगे। इस दौर में लोग इतना व्यस्त हो गए है की लोगो को अपने जरूरी काम भी छोड़ने पड़ते हैं।लोगों को अपने जरूरी कामो के लिए 15 मिनट निकालने भारी पड़ जाता है लेकिन इस काम के लिए वे घंटों निकाल लेते हैं। लोग घंटे, दो-दो घंटे अपने फोन पर बातें करने में व्यस्त रहते है।

प्यार और पैसा

आज जितनी तेजी से लोग प्यार कर रहे है उससे कही तेजी से लोगों का ब्रेकअप भी हो रहा है यानी लोगों को अपने प्यार में धोखे मिल रहे है और प्यार में धोखा मिलने का सबसे बड़ा कारण पैसा है।पिछले दिनों टेलीविजन अभिनेत्री रतन राजपूत ने कहा था, ‘इन दिनों व्यावहारिकता के साथ जीना बहुत जरूरी है और इसके लिए प्यार और पैसा दोनों चाहिए। मैं अपनी पूरी जिंदगी काम और पैसे के पीछे नहीं भाग सकती। मैं एक बैलेंस्ड लाइफ जीना चाहती हूं और यदि मैं कहती हूं कि पैसा बहुत महत्वपूर्ण है तो इसमें कुछ भी गलत नहीं है।इस तरह की सोच रखने वाली रतन अकेली लड़की नहीं हैं। आज आम मध्यवर्गीय लड़कियों के लिए भी पैसा बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण हो गया है। यही वजह है कि वे अपना जीवनसाथी चुनते वक्त अन्य चीजों के अलावा उसका बैंक बैलेंस देखना नहीं भूलतीं। वास्तव में पैसा आज आपसी रिश्तों पर बहुत ज्यादा असर डाल रहा है चाहे बात शादी से पहले की हो या फिर शादी के बाद की।

मोदी – ट्रंप की अदांओ पर फिदा बॉलीवुड

पैसा बनता है ब्रेकअप का कारण

माना पैसा सुख-सुविधाएं जुटाने का माध्यम बनता है पर कई बार ये रिश्ते बिखरने की वजह भी बन जाता है।आज अगर कोई मध्यवर्गीय लड़का किसी मध्यवर्गीय लड़की से प्यार करता है या फिर अमीर घर के लड़के अमीर लड़कियों से प्यार करते है तो जब तक लड़के के पास लड़की की खुशियां पूरी करने के पैसे होते है तब तक तो ठीक ठाक चलता है और लड़की लड़के से प्यार करती है उसके बाद जब लड़के के पास पैसे की कमी हो जाती है तो लड़की ब्रेकअप कर लेती है ठीक ऐसे ही अगर लड़का कही लड़की से ज्यादा पैसे वाला हो जाता है तो लड़कियों से ब्रेकअप कर लेते हैं। आज विवाह टूटने के मुख्य वजहों में से एक है पैसा। पहले जहां साथी को धोखा देना या उनके साथ एडजस्ट न कर पाना विवाह टूटने के कारण हुआ करते थे। वहीं अब पैसा रिश्तों में दूरियां पैदा करने लगा है। रिश्तों में विश्वास और भरोसा नहीं रह गया।

हमारा भारत देश सांस्कृतिक परम्पराओं वाला देश कहा जाता है। जिस देश में हर प्रदेश की अपनी-अपनी अलग सांस्कृतिक परम्पराएं हो उसी देश में आज हमारे बड़े-बुजुर्ग सांस्कृतिक कार्यक्रमों को देखने के लिए तरसतें हैं। लेकिन देश की नई पीढ़ी प्यार मोहब्बत की दौर में है। प्यार-मोहब्बत की वजह से आज आत्महत्याएं भी होने लगी हैं। इस तरह आज के इस दौर में प्यार-मोहब्बत की कीमत इतनी अधिक हो गई है की देश में बहुत कम ही लोग इसको खरीद पातें हैं।