उत्तर प्रदेश की राज्यपाल ने लिया टीबी ग्रसित बच्ची को गोद

उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने रविवार को राजभवन में आयोजित कार्यक्रम में एक बच्ची को गोद लिया जो टीबी से ग्रसित थी। राज्यपाल के इस पहल पर राजभवन के अधिकारियों ने भी आगे बढ़ते हुए 21 बच्चों को गोद लिया । आनंदीबेन पटेल ने कहा कि 2025 तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का लक्ष्य है कि भारत को रोग से पूर्ण रूप से मुक्त करना है, इस दृष्टि से यह तय किया गया है कि टीबी से ग्रसित बच्चों को गोद लेने की पहल राजभवन से की जाए। साथ ही उन्होंने कहा कि गोद लेना कोई उपकार नहीं है यह जागृत समाज का फर्ज है कि समाज स्वस्थ हो।

आगे उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने मध्यप्रदेश और गुजरात के अनुभव साझा करते हुए कहा कि ऐसे प्रयास से रोग ग्रस्त बच्चे कम समय में ही स्वस्थ हो गए और इससे प्रेरणा लेकर समाज के लोगों ने ज्यादा से ज्यादा बच्चे गोद लिए हैं।

संवाददाता समिति के लोगों ने की आनंदी बेन पटेल से की मुलाकात

लखनऊ में 14,600 मरीज टीबी से ग्रसित

वही जिला छय रोग निवारण अधिकारी डॉ पी के गुप्ता ने बताया कि सिर्फ लखनऊ जिले में टीबी के 14600 मरीज चिन्हित किए गए हैं। पौष्टिक आहार और दवाई के लिए ₹500 भत्ता सीधे उनके खाते में भेजा जा रहा है। इस अवसर पर राज्यपाल के अपर मुख्य सचिव हेमंत राव तथा विशेष सचिव डॉ अशोक चंद्र भी मौजूद रहे।