फिर भड़की मायावती कहा ”भाजपा ने फिर कराई ईवीएम धांधली ”

उत्तर प्रदेश की हमीरपुर विधानसभा के लिए हुए उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी को जीत हासिल हुई है। बहुजन समाज पार्टी की करारी हार के बाद पार्टी प्रमुख मायावती ने हार का गुस्सा ईवीएम पर फोड़ते हुए कार्यकर्ताओं से मायूस न होने को कहा है। बता दें कि इस सीट पर हुए उपचुनाव में दूसरे नंबर पर समाजवादी पार्टी रही है। उन्होंने कहा कि भारी बारिश के कारण भाजपा के अधिकांश वोटर तो घर से निकले ही नहीं थे। ऐसे में भाजपा की जीत यह साबित करती है कि ईवीएम में गड़बड़ी के सहारे यह सफलता प्राप्त की गई है।

मनोबल तोड़ने की साजिश ”मायावती”

उन्होंने कहा, ‘हमीरपुर उपचुनाव में बीएसपी को धांधली के तहत तीसरे नंबर पर धकेलकर अब अन्य 11 सीटों पर होने वाले विधानसभा उपचुनाव में पार्टी का मनोबल गिराने की साजिश की गई है, जो कत्तई सफल नहीं होने वाली है। बीएसपी जनसहयोग से इस नियोजित षड्यंत्र का मुंहतोड़ जवाब जरूर देगी।’पूर्व मुख्यमंत्री ने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘साथ ही, बीएसपी के लोगों से अपील है कि वे हमीरपुर के एक परिणाम से कत्तई मायूस न हों बल्कि और ज्यादा तैयारियों के साथ अगले माह होने वाले विधानसभा उपचुनावों के लिए पूरे जी-जान से काम करें ताकि ऐसी साजिशों को नाकाम किया जा सके। ईवीएम की रखवाली पर भी कड़ी नजर जरूर रखें।’

बसपा सुप्रीमो मायावती का बयान, कहा बाबा साहेब अम्बेडकर धारा 370 के पक्ष में नहीं थे

उत्तर प्रदेश की हमीरपुर विधानसभा सीट पर हुए उप चुनाव में बीजेपी प्रत्याशी युवराज सिंह विजयी घोषित हुए हैं और उन्होंने समाजवादी पार्टी के उम्मीवार मनोज कुमार प्रजापति को करीब 17 हजार 846 वोटो से मात दी। इस उपचुनाव में बहुजन समाज पार्टी तीसरे स्थान पर जबकि कांग्रेस चौथे स्थान पर रही।

मायावती ने ट्वीट कर कहा, “बीजेपी द्वारा ईवीएम आदि की धांधली से चुनाव परिणाम को प्रभावित करने का क्रम यूपी के हमीरपुर विधानसभा उपचुनाव में भी जारी रहा जबकि बारिश के कारण इनके वोटर निकले ही नहीं थे, यह सभी जानते हैं. अगर इनकी नीयत में खोट नहीं था तो सभी 12 सीटों पर एकसाथ उपचुनाव क्यों नहीं कराया गया?

उपचुनाव परिणाम
बीजेपी के युवराज सिंह को कुल 74409 मिले। वोट शेयर के हिसाब से ये 38.55 फीसदी है। वहीं समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार को 56542 वोट मिले जो 29.29 फीसदी वोट शेयर है। बीएसपी के उम्मीदवार को 14.92 वोट शेयर के साथ कुल 28798 वोट मिले। वहीं कांग्रेस के उम्मीदवार ने 8.34 वोट शेयर के साथ कुल 16097 वोट हासिल किए।

एमपी में दलित की हत्या पर फांसी की मांग

बसपा अध्यक्ष मायावती ने पंचायत भवन के बाहर शौच करने पर दलित की हत्या पर भी सवाल उठाए और कांग्रेस और बीजेपी की सरकारों पर भी हमला बोला। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि कांग्रेस और बीजेपी की सरकारें बताएं कि गरीब दलितों और पिछड़ों के घरों में शौचालय की समुचित व्यवस्था क्यों नहीं की गई है? यह सच बहुत ही कड़वा है तो फिर खुले में शौच को मजबूर दलित युवकों की पीट-पीट कर हत्या करने वालों को फांसी की सजा अवश्य दिलाई जानी चाहिए।

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि अगर भाजपा की नियत में खोट नहीं है तो सभी सीटों पर एक साथ उप चुनान क्यों नहीं कराया। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से अपील किया है कि हमीरपुर के चुनाव परिणाम से हताश न हो, बल्कि अगले महीने होने वाले अन्य विस उपचुनाव की तैयरियों में और अधिक जोश से जुट जाएं। ताकि भाजपा की साजिशों को नाकाम किया जा सके। उन्होंने कार्यकर्ताओं से ईवीएम पर भी पैनी नजर रखने को कहा है।