शिवपाल सिंह यादव पहुँचे सदन

सदन में शिवपाल सिंह यादव के पहुँचने पर बीजेपी के विधायकों ने तालियों से किया उनका स्वागत। विधानसभा में शिवपाल सिंह यादव सपा एमएलए के रूप में सदन की कार्यवाही में शामिल हुए। सदन की कार्यवाही का समाजवादी पार्टी ने बहिष्कार किया है। शिवपाल पार्टी लाइन से विपरीत विधानसभा में बैठे। समाजवादी पार्टी कुछ ही दिन पूर्व शिवपाल की सदस्यता रद्द करने का मामला चला था। पार्टी द्वारा नोटिस देकर वापस लिए जाने की चर्चा चल रही थी।

शिवपाल यादव ने विशेष सत्र में प्रदेश की बिगड़ती कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए। इन्वेस्टर समिट की बढ़ाई की और कहा जितने निवेश की बात हुई है उतना निवेश नही आया है। उन्होंने बोला कि महिलाओं को गैस सिलिंडर दिया गया यह एक अच्छी योजना है पर मेरा सुझाव है कि गैस सिलेंडर के लिए गरीबो को सब्सिडी दी जाए।

शिवपाल ने कहा कि आवास योजना में उत्तर प्रदेश ने प्रथम स्थान प्राप्त किया है, यह अच्छी बात है पर अभी भी बहुत लेगो को आवास की जरूरत है। उस पर सरकार को ध्यान देना चाहिए। उन्होंने बोला कि ओडीएफ़ के गलत आंकड़े दिए जा रहे है, उन पर ध्यान देना चाहिए। इस प्रदेश का नेतृत्व एक ईमानदार मुख्यमंत्री के हाथ मे है।

केंद्र सरकार के खिलाफ,शिवपाल सिंह की पार्टी करेगी धरना प्रदर्शन

मुकदमा नही लिखा जाता है कई जगहों पर 

शिवपाल सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री मेहनती है, पर पुलिस को अभी कसने की जरूरत है। उन्होंने बताया कि कल मैं बदायूं के दौरे पर था, जहा एक घंटे में 15 बार बिजली गई थी। आज यह एक बड़ी समस्या है, इस पर ध्यान देना चाइए। बिजली की स्थिति सही नही है।

बसपा एमएलसी ब्रजेश सिंह ‘प्रिंसू’ भी सदन में हुए शामिल

कल विशेष सत्र शुरू होने के बाद से लगातार सदन में एमएलसी प्रिंसू मौजूद रहे। प्रिंसू ने बयान दिया कि गांधी जी के नाम पर सत्र का ऐतिहासिक काम शुरू होगा। वाकआउट के लिए पार्टी के कोई स्पष्ट निर्देश नही हैं। यहाँ तक की उन्होंने बीजेपी में शामिल होने की संभावनाओं से भी इनकार नहीं किया।