यूपी के नव निर्वाचित 4 विधायकों का शपथ ग्रहण हुआ संपन्न

उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव जीतने के बाद में खाली हुई सीटों पर हुए उपचुनाव में अपनी जीत का परचम लहराने वाले भारतीय जनता पार्टी के चार विधायकों को विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने शपथ दिलाई। आपको बता दें की विधान सभा के अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने उपचुनाव में जीते चार विधायकों को विधान भवन स्थित राजर्षि पुरूषोत्तम टण्डन हॉल में शपथ दिलाई। इसमें सहारनपुर जिले की गंगोह विधान सभा के नव-निर्वाचित विधायक कीरत सिंह, लखनऊ जिले की कैन्ट विधान सभा से जीते विधायक सुरेश चन्द्र तिवारी एवं चित्रकूट जिले की मानिकपुर विधान सभा से नव-निर्वाचित विधायक आनन्द शुक्ल एवं प्रतापगढ़ जिले के प्रतापगढ़ सदर विधान सभा से नव-निर्वाचित विधायक राजकुमार पाल शामिल हैं।

विधानसभा अध्यक्ष ने स्वलिखित पुस्तक ‘हिन्द स्वराज्य का पुनर्पाठ‘ की भेंट

विधान सभा अध्यक्ष ने इन चारों नवनिर्वाचित विधायकों को शपथ दिलाने के बाद उन्हें संविधान, विधान सभा कार्य संचालन नियमावली एवं बिहाने ब्याह स्वलिखित पुस्तक ‘हिन्द स्वराज्य का पुनर्पाठ‘ भेंट की। इस अवसर पर विधान सभा अध्यक्ष ने सभी नवनिर्वाचित विधायकों को बधाई देते हुए कहा कि वह विधान सभा में एक जागरूक एवं सफल विधायक के रूप में कामयाब हों।

इस मौके पर नए विधायक सुरेश चंद तिवारी ने कहा कि वह अपनी विधानसभा क्षेत्र से पहले भी विधायक रह चुके हैं और कैंट के लोगों की समस्याओं का निदान ही उनका प्रमुख उद्देश्य है।

चित्रकूट के मानिकपुर से विधायक आनंद शुक्ला ने शपथ ग्रहण के बाद मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि जिस तरह से उनके ऊपर उनकी विधानसभा के लोगों ने विश्वास जताया है वह सरकार के साथ सामंजस्य स्थापित कर जनता की के विश्वास पर खरा उतरने का पूरा प्रयास करेंगे।

महगाई को लेकर सभी विधानसभाओं में किया जाए धरना प्रदर्शन

प्रतापगढ़ के सदर विधानसभा से विधायक रामपाल ने कहां की वह पहली बार विधायक बने हैं और अपने विधानसभा में विकास की बयार कैसे आए इसका पूरा ध्यान रखना उनकी प्राथमिकता होगी। शपथ ग्रहण के बाद उन्होंने यह बातें मीडिया के सामने रखी।

सहारनपुर से विधानसभा सीट गंगोह शिवाजी द पार्टी की जीत दर्ज कराने वाले कीरत सिंह ने अपनी विधानसभा के लोगों का धन्यवाद दिया। साथ ही कहा कि जिस उम्मीद से जनता ने उन्हें चुना है वह उनकी उम्मीदों पर खरा उतरने का काम करेंगे। साथ ही राज्य व केंद्र सरकार के माध्यम से सरकार की योजनाओं को जनता तक पहुंचाने का काम भी करेंगे।