विधायकों को खरीदने के मामले में हरीश रावत पर दर्ज हुई FIR

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रह चुके हरीश रावत को सीबीआई ने करारा झटका दिया है। सीबीआई ने पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत पर MLA को खरीदने का आरोप लगाया है। हरीश रावत समेत साथ 3 लोगों पर सीबीआई ने FIR दर्ज किया है जिनमे हरक सिंह रावत तथा समाचार प्लस चैनल के सीईओ उमेश कुमार का नाम शामिल है।

हरीश रावत के खिलाफ वर्ष 2016 में पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुड़ा के नेतृत्व में कांग्रेस के 9 विधायकों ने बगावत कर दिया था जिसके बाद केंद्र सरकार ने हरीश रावत को बर्खास्त कर के राष्ट्रपति शासन लागू कर दिया था। हरीश रावत हाईकोर्ट गए जिसके बाद उनकी सरकार फिर बन गई। इसके बाद एक निजी चैनल के मालिक ने हरीश रावत का स्टिंग ऑपरेशन किया जिसमे वह अपनी सरकार को बचाने के लिए विधायकों को खरीदने की बात कर रहे थे।

31 मार्च 2016 को हरीश रावत के खिलाफ राज्यपाल की सिफारिश पर सीबीआई ने जांच करना शुरू किया। पहली जांच में सीबीआई ने कोर्ट से हरीश रावत के खिलाफ FIR दर्ज करने की इजाज़त मांगी जिसमे नैनीताल की हाईकोर्ट ने स्टिंग ऑपरेशन के मामले में इसकी छूट दे दिया और कहा कि यह कार्रवाई कोर्ट के आखरी आदेश पर की जाएगी।