कांग्रेस उम्मीदवार दिलप्रीत सिंह पर चुनाव आचार सहिंता का मुकदमा

कैंट से कांग्रेस उम्मीदवार दिलप्रीत पर चुनाव आचार सहिंता का मुकदमा दर्ज किए जाने पर यूपी काग्रेस में नाराजगी। स्थानीय प्रशासन पर सरकार के एजेंट के रूप में काम करने का लगाया आरोप।

यूपी कांग्रेस प्रवक्ता अशोक सिंह ने स्थानीय प्रशासन के अधिकारियो पर बोला बड़ा हमला। कहा कि दिलप्रीत पर मुकदमा सरकार की हार है। सरकार कैंट जीतने के लिए हर हथकंडे अपनाने से गुरेज नही कर रही है। दिलप्रीत सिंह को मिल रहे जनसमर्थन और प्यार से घबराई सरकार। पर स्थानीय प्रशासन जान ले कि सरकार आती जाती रहेगी लेकिन नियम कानून को ताख पर रख कर काम किया गया तो कोंग्रेसी चुप नही रहेंगे।

आप विधायक अलका लांबा कांग्रेस पार्टी में हुई शामिल

उन्होंने कहा कांग्रेस का इतिहास ही संघर्ष का है जो किसी से छिपा नही, सड़क से लेकर सदन तक स्थानीय प्रशासन की मनमानी पर संघर्ष होगा। सरकार के कुछ नुमाइंदे कैंट को किसी भी प्रकार से जितने के लिए रोज नया चक्रव्यूव्ह रच रहे है। पर दिलप्रीत को कैंट की सम्मानित जनता का सहयोग मिला है, कोई ताकत कमजोंर नही कर पायेगी।

इस बार के उपचुनाव में कैंट की जनता ने बदलाव का मन बना लिया है। दिलप्रीत पर मुकदमा सरकार की हार का बड़ा उदाहरण है।