मुख्यमंत्री ने विधान परिषद् में शुरू किया सम्बोधन

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विधान परिषद् में सम्बोधन शुरू कर दिया है। मुख्यमंत्री ने 36 घंटे के इस सत्र को 48 घंटे तक करने का फैसला किया है जिसमे 17 बिंदुओं के 169 लक्ष्य तय किये गए हैं। इन 17 बिंदुओं पर चर्चा करने के लिए यह सत्र बुलाया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘यह मेरा, यह पराया है’ वाली सोच छोटे चरित्र वाले लोगों की है। बड़े चरित्र वालों के लिए दुनिया ही परिवार है और दुनिया से गरीबी, बेरोज़गारी, भुखमरी को ख़त्म करने के लिए जो लक्ष्य तय किये गए हैं उन पर काम करना है।

प्रधानमंत्री ने इन लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए बड़ा कदम उठाया और 2030 विजन बनाया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पूरे देश की निगाहें उत्तर प्रदेश की तरफ हैं। भारत के बड़े तीर्थ उत्तर प्रदेश में ही हैं और प्रधानमंत्री भी वाराणसी से चुने गए हैं। मुख्यमंत्री योगी ने 25 हजार मजदूर दिवस सृजित करने पर मंत्री महेंद्र सिंह की तारीफ की।

पत्रकारों ने की मुख्यमंत्री योगी से मुलाकात

विधान परिषद् में योगी आदित्यनाथ ने कहा

  1. महात्मा गांधी जी ने देश मे एक नई जान फूंकने का काम किया था और उनकी प्रेरणा से देश 1947 मे आजाद हुआ था
  2. जिन्होंने भारत के बाद आजादी प्राप्त की तो उनके स्रोत भी महात्मा गांधी थे
  3. भारत का सौभाग्य है कि महात्मा गांधी की 150वीं जयंती भारत के साथ विश्व मना रहा है
  4. भारत का गांधी दर्शन दुनिया के लिए प्रेरणा स्रोत बना
  5. हमने विशेष सत्र के लिए विपक्षी दलीय नेताओं के साथ भी बात की थी और क्या हुआ है, क्या होना है इस पर सब मिलकर चर्चा करेंगे
  6. जहाँ हमारे सदस्यों ने विचार रखे, वहीं विपक्षी नेता इस पर राजनीति करने से बाज नहीं आए
  7. ऐसा नहीं है कि मुर्गा बांग नहीं देगा तो सुबह नहीं होगी, मुर्गा बांग नहीं देगा सुबह तब भी होगी
  8. ऐसे लोग व्यवधान पैदा करना अपना जन्म सिद्ध अधिकार मानते है
  9. हम किसी दल की खुशी के लिए नही प्रदेश के 23 करोड़ लोगों को खुशी के लिए काम कर रहे है
  10. विपक्ष ने साबित किया कि उनका गांधी दर्शन में कोई विश्वास नहीं है
  11. सत्ता उनकी लूट खसोट का साधन है और सत्ता उनके लिए लोक कल्याण का माध्यम नहीं है
  12. उत्तर प्रदेश की 23 करोड़ जनता की खुशहाली के लिए सर्वसमावेशी विकास में मील का पत्थर साबित होगा
  13. आजादी के बाद उत्तर प्रदेश में कई ऐसी जगह थी जहां मूलभूत सुविधाएं नहीं थी
  14. वनटांगिया गांवों में आज शाशन की व्यवस्था का हिस्सा बनाया और सरकार की सभी योजनाओं का लाभ दिया गया
  15. कोई अगर किसी कारण से रोग की चपेट में आया है तो उसका दोष क्या है?
  16. सरकार ने तय किया बिना उम्र की सीमा के विधवा को पेंशन मिलेगी
  17. विपक्ष के मित्रों के इस व्यवहार पर आश्चर्य नहीं दुख हुआ, गरीबों पर बात करने वाले आज बेनकाब हुए और ये 24 घंटे विपक्ष की सच्चाई का एक उदाहरण हैं, जो मुद्दे छूट गए हैं उनपर भी चर्चा करूंगा
  18. हमारा एक संघ कमजोर हो जाए तो दिव्यांग माना जाता है, वही हाल देश और दुनिया का है
  19. वसुधैव कुटुम्बकम की भावना से काम करना होगा
  20. लोकतांत्रिक व्यवस्था में संवाद बड़ी प्रयास का पहल है
  21. जिला, क्षेत्र और ग्राम पंचायतों पर भी इसकी चर्चा होनी चाहिए
  22. 5 मिलियन डॉलर के लिए राज्य भी अपनी अपनी जिम्मेदारी तय करें
  23. उत्तर प्रदेश 1 मिलियन डॉलर की इकोनॉमी बनेगा
  24. उत्तर प्रदेश की 23 करोड़ की जनता की खुशहाली के लिए सर्वसमावेशी विकास में मील का पत्थर साबित होगा
  25. किसानों की आय को दोगुना करने के लिए हमने सभी दिशाओं में कदम उठाया और आज सम्मानजनक मजदूरी के लिए नियम बनाया है
  26. 82 लाख परिवारों को प्रधानमंत्री आवास उपलब्ध कराए
  27. पहले शाशन की योजनाओं का लाभ आम व्यक्ति को नहीं मिलता था
  28. अलग अलग योजनाओं के माध्यम से सरकार ने लोगों के जीवन स्तर को उठाने का काम किया
  29. मुझे मुख्यमंत्री का दायित्व प्रधानमंत्री मोदी ने दिया
  30. पहले खाद्यान्न निकलता था लेकिन लाभार्थी तक नहीं पहुंचता था अब 55 करोड़ परिवारों को गेंहू और चावल मिलना शुरू हुआ। आज टेक्नोलॉजी से कोई खाद्यान्न की चोरी नहीं कर सकता और खाद्यान्न की चोरी रोकने से 700 करोड़ की सरकार की बचत हुई
  31. हमारे पास आज इतना खाद्यान्न है कि 3 वर्ष तक जनता का पेट भर सकते हैं
  32. हमने मानदेय बढ़ाने में रेवड़ी नहीं बाटी, जो काम करेगा उसका मानदेय बढ़ेगा, जो नहीं करेगा उसका घटेगा
  33. सरकार की एमएसपी से ज्यादा दाम किसानों को दे रही
  34. जहां 2016 में गेंहू का 900 से 1000 प्रति कुंतल था, आज 2019 में 1860 प्रति कुंतल का दाम किसान के खाते में भेजा
  35. मंडी समिति के अफसरों को मैंने सफाई का निर्देश दिया था, 1400 टन कूड़ा साफ हुआ
  36. आज मंडियों में किसान से सीधे खरीद हो रही, कही कोई मीडियेटर या दलाल नहीं है
  37. आज ब्लैक मार्केटिंग कहां चली गई, 2014 से पहले क्या स्थिति थी
  38. कोई कालाबाजारी करेगा तो हम अपने गोदाम से सप्लाई देंगे
  39. 74 हजार करोड़ के बकाया गन्ना भुगतान कराया
  40. बस्ती और पिपराइच में हमने नई चीनी मिलें लगाई
  41. पूर्व सरकारों ने चीनी मिलें बेची थी, हमने नई शुरू की
  42. केंद्र सरकार उत्तर प्रदेश को 150 लाइफ सपोर्ट एम्बुलेंस देना चाहती थी, पूर्व सरकार लेना नहीं चाहती थी
  43. हमारी सरकार आते ही हमने 150 एम्बुलेंस ली और सभी जिलों को दी