केंद्र सरकार ने गाँधी परिवार की एसपीजी सुरक्षा हटाने का निर्णय लिया

spg secuirty
image source-google

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी,प्रियंका गाँधी वाड्रा व राहुल गाँधी की एसपीजी सुरक्षा को मोदी सरकार ने हटाने का फैसला लिया है। गाँधी परिवार को स्पेशल प्रोटेक्शन फोर्स की सुरक्षा पूर्व पीएम राजीव गाँधी की हत्या होने के बाद दी गयी थी। खबर के अनुसार ये सुरक्षा हटाने का फैसला इसलिए लिया गया है क्योंकि सोनिया गाँधी,प्रियंका गाँधी व राहुल गाँधी की सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा करने पर पाया गया की गाँधी परिवार को अब कोई खतरा नहीं है। इसलिए एसपीजी सुरक्षा को हटाने का फैसला लिया गया है।

गाँधी परिवार की एसपीजी सुरक्षा हटाने का फैसला गृह मंत्रालय की सुरक्षा समीक्षा कमेटी की हुई बैठक में लिया गया है। इस कमिटी ने गाँधी परिवार की सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा कर पाया की अब इनको खतरा नहीं है इसलिए एसपीजी को हटाया जायेगा। इस सुरक्षा के हटने के बाद गाँधी परिवार को Z-प्लस सुरक्षा दी जाएगी। बता दें इससे पहले मोदी सरकार ने पूर्व पीएम मनमोहन सिंह की सुरक्षा व्यवस्था में बदलाव करते हुए एसपीजी सुरक्षा को हटा दिया था। अब सिर्फ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सीएम योगी के पास ही स्पेशल प्रोटेक्शन फोर्स (एसपीजी) की सुरक्षा है।

स्पेशल प्रोटेक्शन फोर्स क्या है

एसपीजी सुरक्षा को सर्वोच्च सुरक्षा कवच माना जाता है। इस मजबूत कवच का गठन 1985 में VVIP व्यक्तियों की सुरक्षा के लिए किया गया था। यह सुरक्षा खास तौर पर पीएम,पूर्व पीएम या जब किसी व्यक्ति को खतरा होता है तो उसे प्रदान की जाती है। एसपीजी कमांडो हर तरह की परिस्थितियों से निपटने में सक्षम होते है।