डेंगू पीड़ितों से मुलाकात करने आये, अश्वनी चौबे पर फेंकी गई स्‍याही

पटना मेडिकल कॉलेज में केन्द्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री अश्विनी चौबे मंगलवार को डेंगू पीड़ितों से मुलाकात करने आये थे। इसी दौरे के दौरान केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य राज्‍य मंत्री अश्विनी चौबे पर स्‍याही फेंक दी गई। इस घटना के बाद अस्पताल परिसर में भगदड़ मच गई। स्याही फेंकने वाला युवक तुरंत इस घटना के बाद भाग गया। जब इस मामले में केन्द्रीय मंत्री अश्वनी चौबे से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि स्याही पूरे मीडिया पर फेंका गया था। मगर स्याही छींटे मुझपर भी आकर गिर गए। पुलिस ने स्याही फेकने वाले युवक का नाम निशांत झा बताया है।

अश्वनी चौबे से वार्तालाप करने पर उन्होने कहा की ”ना केवल मेरे ऊपर बल्कि पत्रकारों के ऊपर भी स्याही फेंकी गयी और इस घटना के पीछे वही लोग हैं जो पहले अपराध जगत में सक्रिय थे।” एक रीजनल टीवी चैनल से बात करते हुए स्याही फेंकने वाले लड़के निशान्त झा ने कहा है कि उसका संबंध पप्पू यादव की जन अधिकार पार्टी से है। साथ उसने कहा कि यह उसका व्यक्तिगत निर्णय थ। हालांकि पप्पू यादव ने कहा कि वो ऐसे किसी व्यक्ति को नहीं जानते।

बायोप्सी से होगा किडनी का इलाज़ आसान

बता दें कि पटना में डेंगू से प्रभावित लोगों की संख्या अब 1300 से अधिक हो गयी है। पटना में इस बीमारी से एक सात साल के बच्ची की जहां मौत हुई, वहीं भाजपा विधायक संजीव चौरसिया भी अब प्रभावित लोगों में से एक है। सोमवार को अकेले पटना मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में जिन 294 सैम्पल की जांच हुई, उसमें 116 पॉजिटिव पाये गये। इसी दौरान मंगलवार को केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे पटना के अस्पतालों का दौरा करने पहुंचे थे। हर दिन की तरह सोमवार को भी पटना मेडिकल कॉलेज में सौ से अधिक डेंगू के मरीज पाए गए हैं। अस्पतालों में बढ़ी भीड़ से पूरी व्यवस्था लड़खड़ा गई है। एक बेड पर दो मरीजों का इलाज तो आम बात है अब फर्श पर भी जगह नहीं मिल पा रही है।