मानिकपुर विधानसभा सीट से आनंद शुक्ला की ऐतिहासिक जीत

anand shukla bjp chitrakoot

उत्तर प्रदेश में उपचुनाव के मद्देनजर जहां एक तरफ पूरे प्रदेश में 11 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होना था, वहीं पर  चित्रकूट के मानिकपुर के साथ-साथ कई ऐसी जगह थी जहां पर राजनीति पंडितों की निगाह अपने आप बनी हुई थी। साफ तौर पर अगर देखा जाए तो चुनाव 2019 में विजयश्री हासिल करने के बाद में भारतीय जनता पार्टी ने ऐसे प्रत्याशियों पर अपना विश्वास जताया था जो किसी भी स्थिति में पीछे नहीं बढ़ने वाले थे। उसमें से ही एक नाम आता है चित्रकूट के मानिकपुर विधानसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी आनंद शुक्ला का।

आनंद शुक्ला ने विधानसभा उपचुनाव में ऐतिहासिक जीत दर्ज करके एक बार फिर से साबित कर दिया कि आज भी उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ और देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चाहने वालों की कमी नहीं है। विकास के बल पर सब कुछ हो सकता है। अगर चित्रकूट के मानिकपुर विधानसभा सीट के बारे में बात की जाए तो मानिकपुर विधानसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी आनंद शुक्ला ने लगभग 15000 मतों से जीत दर्ज की है। साथ ही अपने साथी प्रत्याशी निर्भय सिंह पटेल जिनको समाजवादी पार्टी ने टिकट दिया था, उन को हराकर दूसरा स्थान तथा बहुजन समाज पार्टी से प्रत्याशी राज नारायण को तीसरा स्थान व कांग्रेस की रंजना पांडे को चौथे स्थान पर लाकर खड़ा कर दिया है।

जानकारों के मुताबिक मानिकपुर विधानसभा क्षेत्र पर मुख्य टक्कर भारतीय जनता पार्टी और समाजवादी पार्टी की मानी जा रही थी। वर्ष 2012 तक लगातार बसपा ने सीट पर कब्जा बनाया था उसके बाद आनंद शुक्ला पर पार्टी ने भरोसा जताया और पार्टी के भरोसे को उन्होंने बरकरार रखते हुए यह सीट जीत ली है। भाजपा प्रत्याशी आनंद शुक्ला 15000 ने अधिक वोटों से जीत दर्ज की है हैं। वहीं दूसरे नंबर पर सपा के डॉक्टर निर्भय सिंह और तीसरे नंबर पर बसपा के राजनारायण कोल रहे। इस सीट में 21 अक्टूबर को 177204 मत पड़े थे। जिसमें कुल 9 प्रत्याशी मैदान में थे। भाजपा से आनंद शुक्ला, कम्युनिस्ट पार्टी से जगदीश सिंह, सपा से डॉक्टर निर्भय सिंह पटेल, कांग्रेस से रंजना पांडे, बसपा से राजनारायण कोल इसके अलावा भूपेंद्र कुमार, शांति देवी, शिव भूषण सिंह और सुरेंद्र कुमार के बीच मुकाबला हुआ।

मानिकपुर विधानसभा संख्या- 237 आंकड़े

साल 2012 के आंकड़ों के अनुसार इस विधानसभा क्षेत्र में कुल मतदाताओं की संख्या 2 लाख 76 हजार 314 है। जिसमें पुरुष मतदाताओं की संख्या 1 लाख 55 हजार 64 है। जबकि महिला मतदाताओं की संख्या 1 लाख 21 हजार 242 है। सीट पर अर्से से बहुजन समाज पार्टी का कब्जा है। पिछले तीन विधानसभा चुनावों में सीट पर बहुजन समाज पार्टी का कब्जा रहा है। इस बार भी बहुजन समाज पार्टी के लिए सीट पर प्रबल संभावनाएं हैं। देखना होगा कि इस बार सीट पर किस पार्टी के प्रत्याशी को जीत मिलती है। फिलहाल सभी राजनैतिक दलों ने अपनी कमर कस ली है। और चुनाव से पहले जनता के समक्ष अपनी-अपनी दावेदारी पेश करने में जुट गए हैं।

आइए नजर डालते हैं पिछले तीन विधानसभा चुनाव के परिणामों पर

16वीं विधानसभा चुनाव 2012 के नतीजे

16 वीं विधानसभा के चुनाव में बीएसपी के चंद्रभान सिंह पटेल ने समाजवादी पार्टी के श्यामा चरण गुप्ता को हराया था। बीजेपी की पुष्पा तीसरे स्थान पर रही थीं। जबकि कांग्रेस की संपत देवी चौथे स्थान पर रही थीं।

15वीं विधानसभा चुनाव 2007 के नतीजे

15 वीं विधानसभा के चुनावों में बहुजन समाज पार्टी के दद्दू प्रसाद ने समाजवादी पार्टी के सत्य नरायण को हराया था। कांग्रेस की भारती चौधरी तीसरे स्थान पर रही थीं। जबकि अपना दल के महाबीर चौथे स्थान पर रहे थे।

आंकड़ों की बात करें तो इस चुनाव को जीतकर आनंद शुक्ला ने अपना लोहा मनवाया है। यह चुनावी जीत भाजपा तथा आनंद शुक्ला दोनों के लिए दोनों के लिए बड़ी उपलब्धि है।