शिक्षक दिवस पर मुख्यमंत्री जी राजभवन में लगाएंगे मंत्रियो की पाठशाला

मंत्रिमंडल में व्यापक फेरबदल एवं सभी मंत्रियो को उनके विभाग आवंटित करने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने मंत्रियों के कामकाज को बेहतर बनाने के लिए बड़ी पहल करने जा रहे हैं। जैसा की आपको विदित है की पांच सितंबर को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस बार मुख्यमंत्री योगी जी शिक्षक दिवस के अवसर पर राजभवन में मंत्रियों की पाठशाला लगाएंगे। इस पाठशाला में विशेष रूप से राज्यपाल आनंदीबेन पटेल की मौजूदगी रहेंगी। योगी जी का ध्यान मंत्रिमंडल में शामिल हुए उन 18 नए चेहरों पर होगा जो सरकार की उपलब्धियों से अभी ठीक से परिचित नहीं हैं।शिक्षक दिवस के मौके पर एक वीडियो फिल्म भी प्रदर्शित होगी, जिसमें क्रमवार ढाई वर्ष के विकास कार्य दिखाये जाएंगे।

मंत्रिमंडल विस्तार के बाद ही मुख्यमंत्री जी ने शास्त्री भवन के सभागार में नए मंत्रियों को सबक दिया था, लेकिन अब सुनियोजित रूप से इन सबकी पाठशाला लगेगी। योगी योजना के अनुसार उन्हें प्रशिक्षण देंगे। इस पाठशाला में वह यह सिखाएंगे की योजनाओं, कार्यक्रमों तथा सरकार की उपलब्धियों के बारे में जनता को अच्छी तरह से परिचित कराया जाए जिससे सरकार की सकारात्मक छवि प्रस्तुत हो सके ।

समयबद्धता पर योगी जी का जोर

योगी जी 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए योजनावार सभी कार्यों को गति देना चाहते हैं। फाइलों का निस्तारण तीन दिन के भीतर में हो और बाहरी निवेशकों और उद्यमियों के कार्यों का भी त्वरित निस्तारण हो। सभी मंत्री तय समय से कार्यालय में उपस्थित हों, इस पर भी उनका जोर है। प्रत्येक माह जिलों की विकास पर भी वह रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश देंगे।

विधानसभा उपचुनाव : भाजपा, कांग्रेस सपा ने जारी की सूची

तबादलों में मंत्रिमंडल की निगरानी

तबादलों में धांधली के चलते कई मंत्रियों की खिल्ली उड़ी। इसीलिए कुछ की छुट्टी भी कर दी गयी। मुख्यमंत्री जी चाहते हैं कि अब किसी पर कोई आरोप न आये। इसलिए तबादलों में पारदर्शिता के साथ ही योगी जी ने मंत्रियों को अपने पर्सनल स्टाफ की भी निगरानी की जिम्मेदारी सौंप दी है।