अब बनेगा टीवी मुक्त लखनऊ-महापौर संयुक्त भाटिया

google

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में महापौर संयुक्ता भाटिया द्वारा लालबाग स्थित नगर निगम मुख्यालय के राजकुमार हॉल में रीच संस्था के तत्वाधान से लखनऊ के पार्षदो के साथ एक अहम बैठक आयोजित की गई। इस अवसर पर महापौर संयुक्ता भाटिया ने कहा कि हम टीबी रोग को जड़ से समाप्त करने के लिए संकल्पित है।

टीवी का पूरा ईलाज करवाना अति आवश्यक है

उन्होंने उपस्थित पार्षदो से कहा कि अपने वॉर्डों के विकास कार्य के साथ-साथ आप सभी वॉर्ड के लोगो को टीबी जैसे रोगों के प्रति जागरूक करें। जिससे हम सब मिलकर लखनऊ को टीबी मुक्त बना सके। महापौर ने आगे कहा कि टीबी रोग की समय से पहचान होना तथा समाज में अपने रोग के कारण झिझक-संकोच छोड़कर स्वयं का पूरा इलाज करवाना अति आवश्यक है। उन्होंने बताया कि लखनऊ के सभी सरकारी अस्पतालों में टीबी रोगियों की जांच एवं दवा की व्यवस्था उपलब्ध है।

भारत में हर तीसरे व्यक्ति के अंदर टीबी के जीवाणु मौजूद हैं

महापौर ने शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने पर विशेष जोर देते हुए कहा कि एक रिपोर्ट के अनुसार भारत में हर तीसरे व्यक्ति के अंदर टीबी के जीवाणु सुषुप्तावस्था में मौजूद हैं। यदि शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत है तो क्षयरोग सहित कोई भी गम्भीर बीमारी नहीं होगी। उन्होंने कहा कि आधुनिक तकनीक ने जीवन शैली को प्रभावित कर दिया है। इसलिए स्वस्थ रहने के लिए स्वस्थ जीवन शैली अपनाने की आवश्यकता है।

राजधानी में सेवा भारती के तत्वावधान का किया गया आयोजन

हमें टीवी के प्रति सभी को जागरूक करना होगा-महापौर

इस अवसर पर रीच संस्था की समन्वयक ऋचा शर्मा ने कहा कि अगर आज हम टीवी के प्रति जागरूक नहीं होंगे तो आने वाले समय में भयावह परिणाम देखने को मिल सकते हैं। उन्होंने पार्षदों से आग्रह करते हुए कहा कि अगर आप सभी अपने-अपने वार्ड को टीबी को मुक्त बनाने का संकल्प ले तो टीबी को छूमंतर होने में देर नहीं लगेगी और एक स्वस्थ समाज के साथ-साथ लखनऊ के टीबी मुक्त होने की परिकल्पना भी साकार होगी।

इस बैठक में भारी संख्या में लोग मौजूद रहे

बैठक में मुख्य रूप से महापौर संयुक्ता भाटिया संग राज्य क्षय नियंत्रण अधिकारी डॉ संतोष गुप्ता, नगर आयुक्त इन्द्रमणि त्रिपाठी, डब्लूएचओ सलाहकार डॉ० उमेश त्रिपाठी तथा जिला क्षय नियंत्रण अधिकारी डॉ बीके सिंह ने भी क्षय रोग के बारे में अहम जानकारी देते हुए अधिक से अधिक लोगों को जागरूक करने की अपील की। दूसरी तरफ बैठक में शामिल हुए पार्षदों ने भी टीबी को गंभीरता से लेते हुए आश्वासन दिलाया कि अपने-अपने वार्ड को टीबी मुक्त बनाकर, टीबी मुक्त लखनऊ के संकल्प को साकार करेंगे। बता दें कि बैठक में तीन दर्जन से ज्यादा पार्षद मौजूद रहे।