हाजी महबूब के आवास पर मुस्लिम समाज की बैठक हुई संपन्न

ayodhya babri musjid

उत्तर प्रदेश के फैजाबाद स्थित बाबरी मस्जिद और श्री राम मंदिर मुक़दमे की सुनवाई को लेकर अब तेजी बढ़ रही है। अयोध्या मामले के मुस्लिम समुदाय के लोगो को इस मुकदमे पर होने वाले फैसले का जल्द से जल्द इंतजार है। वही अयोध्या में सुरक्षा से जुड़े फैसले को बढ़ाता देख आम जनता की चिंता बढ़ गई है। इसी सिलसिले में मुस्लिम पक्ष के हाजी महबूब के आवास पर बैठक आज समाप्त हो गई है। बैठक के दौरान मुस्लिम समाज के 50 से अधिक लोग बैठक में शामिल रहे। मुस्लिम पक्षकार हाजी महबूब ने मुस्लिम समाज से अपील किया की बेफजूल की फैलाई जाने वाली अफवाहों पर ध्यान न दे।

अयोध्या: मुसलमानों की बड़ी पहल कार्यशाला जाकर किया पत्थरों की सफाई

उन्होंने कहा कि विवादित परिसर पर सुप्रीम कोर्ट का आदेश चलता है। अगर प्रशासन वहां पर दीपोत्सव की अनुमति देता है तो यह गलत है। उन्होंने अयोध्या मुद्दे पर मुस्लिम समाज से कहा कि हम सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करेंगे। किसी को भी अफवाहों पर ध्यान देने की जरूरत नहीं है। विवादित परिसर में विहिप के दीपोत्सव की मांग पर बोले मुस्लिम पक्षकार हाजी महबूब ने कहा विहिप अनुमति को मिलती है तो मुस्लिम समाज भी मांग करेगा। उन्होंने कहा की विवादित परिसर में नमाज पढ़ने की मांग करेगा। महबूब अयोध्या मसले पर सुप्रीम कोर्ट में चल रही सुनवाई के मुद्दे पर अपने घर में हुई बैठक के बाद मीडिया को संबोधित कर रहे थे। बैठक में करीब 50 से अधिक मुस्लिम समाज के लोग शामिल हुए थे।

सदस्य खालिद रशीद फिरंगी महली ने कहा बोर्ड अपने पुराने रुख पर कायम है। इसमें अब कोई सुलह-समझौते की गुंजाइश बची नहीं है। इस बारे में कई बैठकें हो चुकी हैं जो की हमेशा बेनतीजा ही रही हैं। हम कोर्ट के फैसले का सम्मान करेंगे हमारी बाबरी मस्जिद जो शहीद हुई है।उस बारे में कोई क्यों नहीं सोचता। विश्व हिंदू परिषद कल अनुमति को लेकर मिलेगा मंदिर के रिसीवर कमिश्नर मनोज मिश्र ने बताया की दीपावली के दिन 27 अक्टूबर को दीपोत्सव के लिए विहिप मांगेगा अनुमति।