लखीमपुर खीरी: आत्म निर्भर भारत की ओर बढ़ रही गौशालाएं

लखीमपुर खीरी।यूपी सरकार एक तरफ आवारा जानवरो से किसानों को निजात दिलाने के लिए गौशालाओ का निर्माण करा रही है वही इन गौशालाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए भी तेजी से काम कर रही है।आइए दिखाते है लखीमपुर की एक ऐसी गौशाला जिसमे न सिर्फ किसानों को उनकी फसलें बचाकर राहत दी है बल्कि इसे आत्मनिर्भर बनाने के लिए गोबर,मूत्र,से ऑर्गेनिक खाद बनाकर किसानों को उनके खेतो की उत्पादकता बढ़ाने का रयास किया जा रहा है।

खीरी जिले के रायपुर बुजुर्ग में गोशाला को स्वाभिलम्बी बनाया गया है इस गोशाला में गाय के गोबर और गो मूत्र से घन जीवामृत बनाया गया जिसका निरीक्षण करने पहुचे जिला कृषि अधिकारी सतेंद्र सिंह ने बताया इससे किसानों को ऑर्गेनिक खेती करने को बताया जा रहा है और ये ऑर्गेनिक खाद गोशाला में तैयार की जा रही है इस खाद को किसान को दिया जाएगा और इसके बदले में किसान से पैसा नही लिया जाएगा ,बदले में सिर्फ भूषा लिया जाएगा।साथ ही बताया इस गोशाला में मस्य पालन भी कराया गया है उससे जो लाभ मिलता है वो गायों के भूषा और हरे चारा में लगाया जाता है ऐसे ही जिले की सारी गोशालाओं को स्वाभिलम्बी बनाया जाएगा।

 

गौशाला में तैयार की गयी खाद किसानों को मुफ्त उपलब्ध कराई जा रही है बदले में किसानों को गौशाला में रह रहे जानवरो को भूसा उपलब्ध कराने के लिए कहा जा रहा है।साथ ही किसानो की ऑर्गेनिक खाद बनाने की ट्रेनिग भी दी जा रही है। पीमए मोदी के आत्म निर्भर भारत बनाने का अभियान जोरो पे चल रहा है। इसी के साथ साथ जो भी गोशाला सरकार द्वारा बनाई गयी है। उनको भी स्वाभिलम्बी बनाया जा रहा है।

रिपोर्ट- फारूख हुसैन (लखीमपुर खीरी)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

77 − 68 =