पीएम मोदी और जिनपिंग ने दिए एक दूसरे को तोहफे, जाने तोहफों के बारे में

भारत और चीन के बीच प्रतिनिधिमंडल की बातचीत खत्म हो चुकी है। चीन के राष्ट्रपति ने भारत के द्वारा किये गए आतिथ्य को यादगार बताया व पीएम मोदी ने शी जिनपिंग को तोहफा दिया तथा शी जिनपिंग ने भी पीएम को तोहफा दिया। दोनों नेताओं ने आतंकवाद पर चिंता व्यक्त की।

क्या थे तोहफे

प्रतिनिधिमंडल स्तर की बैठक खत्म होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग एक प्रदर्शनी में पहुंचे। इस प्रदर्शनी में विशेष कलाकृति और हाथ से बनाये गए सामान थे। प्रधानमंत्री ने चीनी राष्ट्रपति को एक शॉल दी, जिसमे शी जिनपिंग की तस्वीर बनी हुई थी। शी जिनपिंग ने भी पीएम मोदी को एक प्लेट दी जिसपर पीएम नरेंद्र मोदी की तस्वीर बनी हुई थी।

आईएफडब्लूजे ने पत्रकार हित में,केंद्रीय मंत्री को सौंपा ज्ञापन

दोनों देशों के रिश्ते होंगे अच्छे

प्रधानमंत्री ने कहा मै गर्मजोशी से आप सभी का स्वागत करता हूँ। चीन और भारत 2000 सालों से आर्थिक शक्ति रहें है। हम दोनों एक दूसरे की समस्याओं के बारे सोचेंगे और मतभेद को झगड़े की वजह नहीं बनने देंगे। भारत चीन के पुराने सांस्कृतिक रिश्ते है। वही चीन के राष्ट्रपति ने कहा की मै भारत आकर बहुत प्रसन्न हूँ। हम आपके द्वारा किये गए आतिथ्य से अभिभूत है। ये मेरे और मेरे साथियों के लिए एक यादगार अनुभव होगा। वुहान शिखर सम्मलेन ने हमारे रिश्तों को मजबूत किया है। मैंने और पीएम ने खुले दिल से द्विपक्षीय रिश्तों पर बात की है।