इमरान खान आज करेंगे पीओके में रैली

➤ दुनिया भर के देशों का ध्यान आकर्षित करने के लिए इमरान खान पीओके में करेंगे रैली।
➤ पीओके के लोग पाकिस्तान से आजादी चाहते हैं।
➤ महाराजा हरि सिंह ने कश्मीर को भारत को सौंपा था।
➤ पाकिस्तान ने की थी कब्जे की कोशिश।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान कुछ दिन पहले ही ट्वीट कर कहा था कि हम पीओके में रैली करेंगे और जम्मू कश्मीर के लोगों को दिखाने की कोशिश करेंगे कि हम उनके साथ खड़े हैं। और पूरी दुनिया के देशों का ध्यान जम्मू कश्मीर मुद्दे पर आकर्षित करेंगे।

पीओके में ही क्यों करेंगे रैली

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान पीओके में रैली इसलिए कर रहे हैं, क्योंकि पीओके जम्मू कश्मीर के बहुत पास में स्थित है। और इमरान जम्मू कश्मीर के लोगों को यह दिखाना चाहते हैं कि हम उनके साथ हर परिस्थिति में खड़े हैं। और पूरी दुनिया को भी कि हमें जम्मू कश्मीर की चिंता है।

मोदी सरकार ने दीपावली से पहले दिया कश्मीरियों को तोहफा

पीओके के लोग ही इमरान के साथ नहीं

पीओके यानी पाकिस्तान ऑक्यूपाइड कश्मीर के लोगों ने कुछ दिन पहले ही पाकिस्तान से आजादी के नारे लगाए थे ।और एक बार नहीं कई बार हो चुका है जिसे पाकिस्तान दुनिया से छुपाना चाहता है। ऐसे में यह देखना दिलचस्प होगा कि इमरान खान जहां पर रैली करने जा रहे हैं क्या वहां के लोग उनके साथ शामिल होंगे।

क्या है पीओके का मामला

1947 में जम्मू और कश्मीर को यह विशेष अधिकार दिया गया था कि वह पाकिस्तान व भारत दोनों में से किसी एक के साथ भी जा सकता हैं। 500 से ज्यादा रियासतों ने भारत में विलय किया पर कश्मीर के राजा हरि सिंह ने दोनों के साथ जाने से इनकार कर दिया। इस बात का फायदा उठाने के लिए पाकिस्तान कश्मीर पर हमला करने की योजना बनाई। इस योजना की खबर जब महाराजा हरि सिंह को लगी तो उन्होंने भारत से मदद मांगी। भारत ने शर्त रखी की उन्हें हमारे साथ विलय करना होगा जिसके बाद राजा हरि सिंह तैयार हो गए और भारतीय सेना ने पाकिस्तानी सेना को खदेड़ दिया। यह मामला संयुक्त राष्ट्र में गया तो उन्होंने कहां थी जिसकी सेना जहां तक है वह क्षेत्र उसका माना जाएगा। तो जितने क्षेत्र पर पाकिस्तानियों ने कब्जा कर लिया था वह हिस्सा पाकिस्तान ऑक्यूपाइड कश्मीर बना। जिसे पीओके के नाम से आज जाना जाता है। और जो हिस्सा भारत के पास है कश्मीर का उसे आजाद कश्मीर कहा जाता है।