संयुक्त राष्ट्र में इमरान खान ने आरएसएस पर झूठे आरोप लगाये

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने यूएनजीए के 74वे सत्र को संबोधित किया और अपने लगभग 50 मिनट के लंबे भाषण में इमरान खान ने झूठ बोलने का रिकॉर्ड बना दिया। इमरान खान ने आरएसएस पर बेबुनियाद आरोप लगाया और कॉन्ग्रेस पार्टी के समय होम मिनिस्टर रहे,उनके बयान को बताते हुए कहा की आरएसएस में आतंकवादियों को तैयार किया जाता है।

50 मिनट तक भारत पर ही आरोप लगाते रहे

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने आरएसएस पर ऐसे आरोप लगाए जो इमरान खान को अपने देश में उपस्थित आतंकवादी संगठनों पर लगाने चाहिए थे पर पाकिस्तान ने एक बार भी अपने देश के आतंकवादियों के बारे में बात नहीं की और अपनी गलतियों को छुपाने के लिए भारत और आरएसएस पर इल्जाम लगाए। इमरान खान ने यूएनजीए में अपने 50 मिनट के लंबे भाषण में सिर्फ भारत पर आरोप लगाने में ही निकाल दिये। वह भी ऐसे आरोप जिसका उसके पास एक भी सबूत उपस्थित नहीं है और हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने पूरी दुनिया को एक साथ मिलकर आगे बढ़ने,तरक्की करने और आतंकवाद के खिलाफ एक साथ होकर लड़ने को कहा तथा भारत के द्वारा प्राप्त की गई उपलब्धियों और बहुत सारी जन कल्याण योजनाओं के बारे में बताया।

करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन में पीएम को नहीं,पूर्व पीएम मनमोहन सिंह को बुलाया

आरएसएस के सदस्य हैं पीएम

इमरान खान ने अपने भाषण में आगे कहा की आरएसएस हिटलर और मुसोलिनी से प्रेरित है। ये आरएसएस के लोग  अपने आप को सबसे ऊंचा मानते हैं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उसके आजीवन सदस्य हैं। इस बात पर हम यही कहेंगे की जो जैसा होता है उसे सब वैसे ही नजर आते हैं। पाकिस्तान के यहां खुद सैकड़ों आतंकी संगठन मौजूद हैं। जिनमें हजारों आतंकियों को ट्रेनिंग दी जाती है और यह बात पूरी दुनिया अच्छी तरह से जानते हैं।