मलेशिया में हो रहे एशियन मास्टर मीट में दम दिखायेंगी डॉक्टर तृप्ति सिंह

24 फरवरी से 2 मार्च 2019 देहरादून में राष्ट्रीय मास्टर मीट में उत्तर प्रदेश के लिए सर्वाधिक चार राष्ट्रीय मेडल डॉ तृप्ति सिंह ने जीते
1. 100 मीटर बाधा दौड़ में स्वर्ण
2. लंबी कूद में रजत पदक
3. 4 * 100 मीटर रिले रेस मैं कांस्य पदक
4. 4 * 400 मीटर रिले रेस में कांस्य पदक

डॉ तृप्ति सिंह ने first national women’s मास्टर एथलेटिक्स चैंपियनशिप 2019 जिसे गोवा मास्टर्स एथलेटिक्स एसोसिएशन ने ऑर्गेनाइज किया था। डॉ तृप्ति सिंह ने उत्तर प्रदेश की झोली में पहला और आखिरी गोल्ड मेडल देने का काम किया था, उत्तर प्रदेश की टीम में डॉ तृप्ति सिंह एकमात्र ऐसे खिलाड़ी थी जिन्होंने उस चैंपियनशिप में अकेला गोल्ड मेडल दिया था।
इन्होंने,
1. 100 मीटर बाधा दौड़ गोल्ड मेडल
2. 4* 100 meter relay race silver medal उत्तर प्रदेश की झोली में डालने का काम किया था।

हद है लापरवाही कीः मरीज को MRI मशीन में डालकर भूल गए डॉक्टर, मरते-मरते बचा

डॉ तृप्ति सिंह के अंदर बचपन से ही खेल के प्रति जुनून कूट- कूट कर भरा था। शिक्षा के दौरान हाई स्कूल परीक्षा पास करने के बाद ही राष्ट्रीय स्तर की खिलाड़ी बन चुकी थी। वह भी “एथलेटिक्स और बास्केटबॉल दोनों में राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिनिधित्व कर चुकी थी “, साथ- साथ उन्होंने अपनी शिक्षा में भी खेल के असर को प्रभावित नहीं होने दिया और खेल के साथ-साथ उन्होंने बीपीएड, एमपीऐड, एमफिल तथा खेल और शिक्षा की सर्वोच्च डिग्री पीएचडी करके खिलाड़ियों के लिए एक प्रेरणा भी बनी इसके साथ ही इन्होंने 20 “अंतर्राष्ट्रीय पेपर “और 22 “राष्ट्रीय पेपर” भी पब्लिश कर डालें। इस समय डॉ तृप्ति सिंह खिलाड़ियों के लिए खेल और शिक्षा को मिलाकर अपनी एक ऐतिहासिक किताब लिख रही है जो शायद अभी तक खेल और शिक्षा के इतिहास में किसी ने लिखने का काम नहीं किया था।

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी भी डॉ तृप्ति सिंह की 20 साल बाद खेल की दुनिया में पुनः वापसी करना और वापसी के तुरंत बाद उत्तर प्रदेश के लिए 6 मेडल जीतकर आने से मुख्यमंत्री जी बहुत प्रभावित हुए और डॉक्टर तृप्ति सिंह को उन्होंने अपने आवास पर बुलाकर सम्मानित भी किया। जिसके दौरान डॉ तृप्ति सिंह ने अपने “शोध -प्रबंध” भी समर्पित किया। डॉ तृप्ति सिंह को मुख्यमंत्री जी ने खेल और शिक्षा से संबंधित कोई बड़ी जिम्मेदारी देने का वादा भी किया है।