मोदी से ट्रंप ने बात करने के बाद पाकिस्तान को मिलाया फोन

मोदी सरकार द्वारा जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद से ही पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। और पाकिस्तान भारत के खिलाफ अलग-अलग देशों के दरवाजे खटखटा रहा है। और एक के बाद एक गलत कदम उठा रहा है। जिससे उसका ही नुकसान हो रहा है।

क्या हुई पीएम मोदी और डोनाल्ड ट्रम के बीच बात

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और पीएम मोदी की बात सोमवार को रात में हुई। यह बातचीत लगभग 30 मिनट तक चली जिसमें उन्होंने कई मुद्दों पर बातचीत की, जैसे दोनों देशों के संबंधों और क्षेत्रीय मसलों को लेकर बात हुई। जिनमें से जम्मू कश्मीर का मुद्दा खास रहा।

जिसमें भारत और पाकिस्तान के बीच इन दिनों चल रहे तनाव को दूर करने की बात ट्रंप ने कही। पीएम मोदी ने पाकिस्तान का नाम लिए बिना कहा कि- कुछ ऐसे नेता है जो भारत के खिलाफ भड़काऊ बयानबाजी करते हैं। जो क्षेत्र की शांति के लिए अच्छा नहीं है।  साथ ही आतंक और हिंसा से मुक्त वातावरण के लिए सीमा पार देश में भी आतंकवाद के लिए कोई जगह नहीं होनी चाहिए।

प्रदूषण पर काबू पाने के लिए दिल्ली में दो पहिया वाहनों पर भी लगेगा ऑड-ईवेन

ट्रंप ने पाकिस्तान पीएम को दिया सुझाव

पीएम मोदी से बात करने के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति ने इमरान खान से बात करते हुए सलाह दी कि इन्हें भारत के खिलाफ संभलकर बयान बाजी करनी चाहिए और वे भारत के साथ संबंधों में शांति बनाए रखें।

ट्रंप ने ट्वीट कर कहा

” अपने दो अच्छे दोस्तों, भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से व्यापार, रणनीति, साझेदारी और सबसे अधिक महत्वपूर्ण भारत और पाकिस्तान के बीच कश्मीर में तनाव कम करने को लेकर बात की। गंभीर स्थिति लेकिन अच्छी बातचीत।”

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा कि 

 “राष्ट्रपति ट्रंप के साथ नियमित संपर्क में रहने की सराहना की।”

अमेरिका ने दिया था मध्यस्थता का ऑफर

इससे पहले डॉनल्ड ट्रंप जम्मू कश्मीर के मसले पर मध्यस्थता का ऑफर दे चुके हैं।  भारत ने साफ कर दिया था कि ये उनका आंतरिक मामला है और किसी भी प्रकार की मध्यस्थता से इनकार कर दिया था। जिसके बाद अमेरिका ने इसे भारत और पाकिस्तान का द्विपक्षीय मामला बताया था।