अटल बिहारी बाजपेयी पर राज्यसभा में क्या बोले पीएम

pm modi raajysabha
google

आज दिनाँक 18/11/2019 को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संसद के उच्च सदन यानी राज्यसभा के 250 वें सत्र को संबोधित किया। इस सत्र के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सदन को लेकर कुछ अच्छी बातें भी कही अतः उन्होंने कहा की ”सदन संवाद के लिए होना चाहिए ,इसमें भले ही भारी बहस हो जाये लेकिन किसी भी प्रकार की रुकावट ना आये इसलिए संवाद का ही रास्ता चुनना चाहिए।

क्या कहा मोदी ने अटल बिहारी बाजपेयी पर –

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी पर बात करते हुए कहा कि उन्होंने 2003 में राज्यसभा के 200 वें सत्र के दौरान उन्होंने ये बोला था कि किसी को भी हमारे सेकंड हाउस को सेकेंडरी हाउस बनाने की कोशिश नहीं करनी चाहिए हमें इससे पूरी तरह से सहमत रहना चाहिए कि संसद का सेकंड हाउस कभी भी सेकेंडरी हाउस नहीं हो सकता।

करतारपुर कॉरिडोर: पीएम मोदी व पूर्व पीएम मनमोहन सिंह इस तरह मिले

इसके अलावा पीएम मोदी ने  ‘भारत की अनेकता में एकता सूत्र को सबसे बड़ी ताकत बताया है और कहा की यह सबसे बड़ी ताकत सदन में नजर आती है। चुनावी अखाड़े को पार करना बहुत सरल नहीं होता है, लेकिन देश में फिर भी उन लोगों की उपयोगिता कम नहीं होती है। उनका अनुभव और सामर्थ्य कम नहीं होता है। उनका लाभ देश के राजनीतिक जीवन, नीति निर्धारण में मिलता है।