अब 26 सितम्बर को मनाया जायेगा विश्व गर्भनिरोध दिवस

image source-thenetizennews

स्वास्थ्य विभाग की तरफ से 26 सितम्बर 2019 गुरुवार को प्रदेश के सभी जनपदों में विश्व गर्भनिरोध दिवस मनाया जायेगा। महानिदेशक परिवार कल्याण डॉ0 उमाकान्त ने बताया की विश्व गर्भनिरोध दिवस पर प्रदेश के सभी जिला मण्डलीय चिकित्सालयों महिला चिकित्सालयों, प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों और आरोग्य केन्द्रों पर इससे सम्बन्धित आयोजन होंगे।

इस आयोजन में लोगों को गर्भ निरोध के उपायों, गर्भ निरोध साधनों के प्रति जानकारी बढ़ाने, युवा दम्पतियों को यौन एवं प्रजनन स्वास्थ्य के प्रति जागरुक किया जाएगा। साथ ही लगातर बढ़ रही जनसंख्या से होने वाले नुकसानों के बारे में भी विस्तार से जानकारी प्रदान की जाएगी।

कमलेश तिवारी हत्याकांड में एक और आरोपी गिरफ्तार

परिवार कल्याण के नोडल अधिकारी डॉ. राम मोहन तिवारी ने जानकारी दी कि प्रति वर्ष 26 सितंबर को विश्व गर्भ निरोध दिवस मनाया जाता है। इस दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य समाज में गर्भ निरोध साधनों के प्रति लोगों में जागरूकता फैलाना और युवाओं को अपने प्रजनन उम्र के बारे में सही निर्णय लेने में सक्षम बनाना हैं।

डॉ0 उमाकान्त ने मुख्य चिकित्साधिकारियों को पत्र भेजकर यह निर्देश दिया है कि इस दिवस पर स्वास्थ्य केन्द्रों पर सभी आधुनिक परिवार नियोजन के साधनों विशेषकर आधुनिक अन्तराल विधियों का स्टाल लगाकर प्रदर्शन किया जाये।

इस साल इस दिवस की थीम जीवन हैं आपका, जिम्मेदारी है आपकी रखी गयी है। साथ ही साथ विश्व गर्भ निरोध दिवस का उद्देश्य जनसंख्या वृद्धि पर नियंत्रण रखने का भी एक प्रयास है। गर्भ निरोध के सभी उपाय आसान व सरल होते है। जिसमें कोई भी सरल व सुविधाजनक तरीका चुन सकता हैं। गर्भ निरोध के आधुनिक विधियों के रूप में एक दो नही बल्कि अनेक विधियां प्रयोग में चल रही हैं जैसे कापर टी, अंतरा, छाया, ईसीपी गोलियां व कन्डोम आदि।