देश का नया नक्शा जारी, POK जम्मू एंड कश्मीर का हिस्सा

awaaze UP

जम्मू एंड कश्मीर के दो हिस्सों में बाटने के बाद केंद्र सरकार ने देश का नया नक़्शा जारी किया है। इस नक़्शे में पकिस्तान के कब्जे वाला कश्मीर (पीओके) अब नवगठित जम्मू कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश और गिलगित बल्तिस्तान लद्दाख केंद्र शासित प्रदेश का हिस्सा बन गया है। गृह मंत्रालय ने भी नया नक्शा जारी करते हुए पीओके की राजधानी मुजफ्फराबाद को देश की भौगोलिक सीमा में दर्शाया है।

लद्दाख केंद्र शासित प्रदेश में करगिल और लेह दो जिले हैं तथा पूर्ववर्ती जम्मू एंड कश्मीर राज्य का बाकी हिस्सा नए जम्मू एंड कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश में है। आज़ादी के समय 1947 में पूर्ववर्ती जम्मू एंड कश्मीर राज्य में कठुआ, जम्मू, ऊधमपुर, रियासी, अनंतनाग, बारामूला, पुंछ, मीरपुर, मुजफ्फराबाद, लेह और लद्दाख, गिलगित, गिलगित वजारत, चिल्हास और ट्राइबल टेरिटरी मिलाकर 14 जिले थे। पूर्ववर्ती जम्मू एंड कश्मीर राज्य की सरकार ने 2019 में सभी ज़िलों का फिर से गठन किया और 28 जिले बना दिए गए जिनमे नए ज़िलों के नाम कुपवाड़ा, बांदीपुर, गांदेरबल, श्रीनगर, बड़गाम, पुलवामा, शोपियां, कुलगाम, राजौरी, रामबन, डोडा, किश्तवाड़, साम्बा और करगिल थे।

केंद्र सरकार द्वारा प्रस्तुत विज्ञप्ति में बताया गया कि राष्ट्रपति ने 1947 के लेह और लद्दाख जिलों के बाकी क्षेत्रों के अलावा 1947 के गिलगित, गिलगित वजारत, चिल्हास और ट्राइबल टेरिटरी जिलों के क्षेत्रों को समावेशित करते हुए जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन तथा दूसरे आदेश में 2019 द्वारा नए लद्दाख केंद्र शासित प्रदेश के लेह जिले को परिभाषित किया। साथ ही विज्ञप्ति में कहा गया कि संसद के अनुरोध पर राष्ट्रपति ने भारतीय संविधान के अनुच्छेद 370 के ज़्यादातर प्रावधानों ख़त्म कर दिया है।