कलयुग में भी है हनुमान, जाने हनुमान चालीसा करने की विधि

भगवान शिव के रुद्रावतार हनुमान जी जिनको बजरंग बली, पवन पुत्र आदि कई नामों से जाना जाता है। वो ऐसे पाप से भरे कलयुग में अपने भक्तों के संकट मोचन के लिए आज भी है। श्री हनुमान जी अपने भक्तों के संकट मोचन के लिए हमेशा उनके साथ रहते है, सभी देवी-देवताओं में हनुमान जी को सबसे ज्यादा शक्तिशाली माना जाता है, कहते है की भगवान श्री राम के सबसे बड़े भक्तं हनुमान जी की चालीसा पढ़ने पर भक्तों को भगवान राम का भी आशीर्वाद प्राप्त होता है।

इस कलयुग में जिसमे इतने पाप किये जा रहे है कोई भी देवी-देवता अपने भक्तों की समस्याओं से छुटकारा नहीं दिलाता है लेकिन जो भी लोग हनुमान जी के भक्त है हनुमान जी अपने भक्तों के साथ संकट मोचन बनके समस्याओं से बाहर निकालते हैं। हनुमान चालीसा लिखने वाले गोस्वामी तुलसी दास जी हनुमान जी के बहुत बड़े भक्त थे, इसी वजह से तुलसी दास जी ने हनुमान चालीसा लिखी। हनुमान जी ने तुलसी दास की भक्ति देखकर उनसे बहुत प्रसन्न हुए और तभी तुलसी दास को भगवान श्री राम के दर्शन कराये।

गुजरात में नवरात्री के अवसर पर महिलाओं ने गरबा के साथ पीएम और ट्रम्प के टैटू बनवाये

हनुमान चालीसा करने की विधि

– सुबह जल्दी उठकर स्नान करें और साफ वस्त्र पहन लें अगर आप लाल या पीले वस्त्र पहनते हैं तो और भी अच्छा होगा
– अपना मुंह पूर्व दिशा में या दक्षिण दिशा में करे और अपने सामने हनुमान जी की फोटो या प्रतिमा को लाल कपडे पर      रख ले ।
– गाय के घी या तिल के तेल का दिया जलाएं और एक लोटे में जल भरकर रखें और हनुमान जी के सामने हनुमान        चालीसा का पाठ करें
– गुड़ या बूंदी के लड्डू का भोग लगाएं।
– ऐसा लगातार 11 मंगलवार करने से हनुमान जी की कृपा प्राप्त होती है।

 चालीसा करते समय बरतें ये सावधानिया

– हनुमान चालीसा का पाठ हमेशा नहा धोकर और साफ कपड़े पहन कर ही करें।
– शराब और मास से दूर रहें।
– मन मे बुरी श्रद्धा न रखें।