अगले सप्ताह से उत्तर भारत मे हल्की बारिश के साथ ठण्ड का आगमन

इस बार बारिश दक्षिण-पश्चिम मॉनसून से नही बल्कि उत्तर-पुर्वी मॉनसून से आने की तैयारी में है। इस वक्त मॉनसून ने लौटते समय सम्पूर्ण उत्तर भारत जिनमे जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, उत्तरप्रदेश को पूरी तरह से कवर कर लिया है। इसके साथ ही कच्छ, उत्तरी गुजरात, उत्तरी मध्यप्रदेश, उत्तरी छत्तीसगढ़, पश्चिमी बिहार से भी मॉनसून लौट आया है। बाकी मॉनसून अगले 24 घंटो में मध्य भारत से लौट आएगा।

हवाओं ने भी मोड़ लिया है अपना रूख

बंगाल की खाड़ी में भी हवाओं का जोर 16 अक्टूबर से जारी हो जायेगा। इन हवाओं के रूख को दक्षिण भारत मे उत्तर-पूर्वी मॉनसून की बारिश के लिए बड़ी अहमियत दी जाती है। इनके साथ उत्तर भारत से होते हुए बहकर आने वाले उत्तर पश्चिमी हवाए मध्यप्रदेश, दक्षिण गुजरात, छत्तीसगढ़ और पूर्वी उत्तरप्रदेश से टकराएंगी।

ये हवाएं देंगी बारिश और ओलो को न्योता

इस टकराव से 17 अक्टूबर को दक्षिण मध्यप्रदेश से बारिश की शुरुआत हो जाएगी। 18, 19, 20 अक्टूबर को बारिश अपना आगमन करते हुए मध्य भारत के ज्यादातर हिस्सो में फैल जाएगी। इस बीच बारिश मध्यप्रदेश के उत्तर-पश्चिमी भागो को छोड़ते हुए बाकी सभी जगहों में फ़ैल जायेगी। इसके आलावा कई जगहों पर ओलें भी गिर सकते है।

बारिश को लेकर मौसम विभाग ने उ.प्र. को किया हाई-अलर्ट।

कुछ राज्यों पर नहीं होगा मौसम का असर

राजस्थान, उत्तर व मध्य गुजरात, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब पर बारिश का बिल्कुल भी असर नही होगा। इन राज्यों में साफ़ और सुहावना मौसम लगातार बना रहेगा। मगर यह ख़ुशी ज्यादा देर की नहीं होगी क्योंकि 20 अक्टूबर के बाद मौसम कभी भी अपना रूप बदल सकता है।

दिखाई दे रही है प०वि० के आने की उम्मीद

इसके साथ ही 19 अक्टूबर से एक मध्यम दर्जे के प०वि० के उत्तर भारत की ओर बढ़ने की उम्मीद लग रही है। जिसके कारण कश्मीर, हिमाचल, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, उत्तर राजस्थान, दिल्ली और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हल्की बारिश का दौर चल रहा है। इसके आलावा 24 अक्टूबर के बाद भी एक सक्रिय प०वि० के आने की उम्मीद दिखाई दे रही है।