उन्नाव में किसानों में फैला आक्रोश गैस पाइपलाइन में लगाई आग

image suorce-google

उत्तर प्रदेश में उन्नाव के शुक्लागंज क्षेत्र में किसानों और पुलिस के बीच जमीन अधिग्रहण मामले को लेकर चल रहा हंगामा ख़त्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है। बता दे की उन्नाव जिले में चल रहे ट्रांस गंगा कार्य स्थल पर उस वक्त भगदड़ मच गई जब किसानों आक्रोश में आकर पावर हाउस में रखे गैस के पाइप में आग लगा दी। इस घटना की सुचना मिलते ही दमकल की कई गाड़ियां और भारी पुलिस फोर्स मौके पर पहुंची। हलांकि आग पर काबू पाने की कोशिशें जारी है। उधर उन्नाव के डीएम ने कहा कि ये प्रदर्शन किसानों का नहीं, कुछ अराजक तत्वों का है। इन्होंने माहौल बिगाड़ने की कोशिश की है। इनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

आपको बता दे की कल किसान उन्नाव के ट्रांस गंगा सिटी में चल रहे प्रशासन को काम करने के लिए प्रदर्शन करने गए थे। उसके बाद पुलिस ने वहां पहुंचे किसानो पर लाठीचार्ज कर दिया। जिसके विरोध में ग्रामीण भी पीछे नहीं रहे और उन्होंने भी पुलिस पर पथराव करना शुरू किया। पथराव के कारण करीब आधा दर्जन पुलिसकर्मी घायल हो गए और उसके अलावा सीओ सिटी भी पत्थर लगने से जख्मी हो गए।

कल इतना सब कुछ होने के बाद भी अभी ग्रामणो को शांति नहीं मिली है। कल देर शाम तक वहाँ पुलिस दल मौजूद रहा।इस दौरान सभी ग्रामीणों की नजर केवल पुलिस पर बनी हुई थी। सभी उनके जाने का इंतजार कर रहे थे। आखिर उनके ये मौका मिल ही गया। उन्होंने मौके देखते ही अपना उग्र रूप दिखाते हुए। आज सुबह वहाँ चल कार्य के गैस पाइपलाइन में आग लगा दी। यदि प्रशासन ने जल्द से जल्द ग्रामीणों के खिलाफ कोई निर्णय नहीं लिया तो ग्रामीणों का ये उग्र रूप खतरानक साबित हो सकता है।

उन्नाव में प्रदर्शन कर रहे किसानों ने पुलिस पर किया पथराव

बाद की इससे पहले पुलिस ने ये नसीहत दी थी की ग्रामीण जल्द ही प्रशासन के आदेश पर अपना कब्ज़ा हटा ले और किसी भी प्रकार की काम में बाधा न डालें। उसके बावजूद भी जब ग्रामीण नहीं माने तो भरी मात्रा में पीएसी और पुलिस बल तैनात करना पड़ा और तो और फिर आंसू गैस के गोले भी मंगाए गए। लगभग सैकड़ों की संख्या में रहे ग्रामीणों को पुलिस ने दौड़ा-दौड़ा कर पीटा और वहां से दूर ले गए।