स्वास्थ मंत्री जय प्रताप सिंह ने मिशन इंद्रधनुष का किया शुभारंभ

google

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के गोमती नगर विपिन खण्ड के होटल रेनेसा में आज मिशन इन्द्रधनुष – 2.0′ अभियान की मीडिया कार्यशाला एवं लांच कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने द्वारा इस कार्यक्रम का शुभारम्भ किया गया। इस कार्यक्रम के दौरान वहाँ आये मुख्य अतिथि जय प्रताप सिंह ने सभी को सम्बोधित करते हुए इंद्रा धनुष मिशन के बारे में बताया।

20से 25 साल पहले पोलियो के खिलाफ चलाया गया था अभियान 

उन्होंने कहा सबसे पहले इंद्र धनुष मिशन और मीडिया कार्यशाला कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगो का धन्यवाद किया। इसके साथ ही उन्होंने बताया की अभी तक अपने इस अभियान के आंकड़े सुने और देखे साथ ही सभी ने अभियान के बारे में भी बताया। उन्हने कहा की 20से 25 साल पहले पोलियो के खिलाफ अभियान चलाया गया था उस वक़्त तकनीक इतनी नही थी। लेकिन उस वक़्त भी बड़े पैमाने पर प्रचार करके उसे सफल बनाया गया था। और उसी वजह से 2014 में पोलियो को भारत से खत्म कर दिया गया था।

टीकाकरण को घर घर पहुंचाया जाना चाहिए 

इसके साथ ही उन्होंने कहा की उत्तर प्रदेश की स्वास्थ्य व्यवस्था पर हमेशा सवाल होते आये है। पर ये आंकड़े जो कि 96 से 99 प्रतिशत तक अच्छे हुए है। इससे ये साबित होता है की आशा बहु और स्वास्थ्य विभाग के कर्मिचारियो की तरफ से घर घर जाकर इसको बेहतर तरीके से किया जा रहा है। ताकि हर प्रकार का टीकाकरण घर घर तक पहुंचाया जा सके।

कांग्रेस पार्टी से निकाले गये नेताओं के समर्थन में उतरे युवा कांग्रेस

इस अभियान में कई वर्षों से नही आई है कोई शिकायत 

अभी तक इस अभियान में कई वर्षों से कोई शिकायत नही आई है। उन्होंने बताया की 2 माह से छोटे बच्चो को सभी प्रकार के टीकाकरण पहुचने के लिए 2 दिसंबर से शुरू किया जाएगा जिसे हम मार्च तक खत्म कर देंगे। मीडिया का साथ चाहिए ताकि जो काम 20 साल पहले हुआ था वो फिर हो सके। इस अभियान को सफल बनाने में प्रदेश के 73 जनपदों के 400 से ज़्यादा ब्लाकों में ये अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान को सफल बनाने के लिए 5 लाख 58 हज़ार बच्चो और 1 लाख से ज्यादा महिलाओं को इस अभियान से जोड़ा जा रहा है।