उत्तर प्रदेश सरकार कराएगी कक्षा 12 तक फ्री पढाई, जाने किसे मिलेगा यह लाभ

free Study up to class 12th

उत्तर प्रदेश भारत देश का एक ऐसा राज्य है जहाँ सबसे ज्यादा जनसँख्या है, ज्यादा जनसँख्या होने के कारण प्रदेश में बेरोजगारी भी ज्यादा है और बेरोजगारी ज्यादा होने के कारण प्रदेश में गरीबी भी ज्यादा है। प्रदेश के अधिकतम गरीब परिवार ऐसे हैं जो अपने बच्चों को पढ़ाने-लिखाने में असमर्थ हैं। जिसकी वजह से गरीब परिवार के बच्चे शिक्षित नहीं हो पाते हैं। कारण यह है की गरीब परिवारों के पास ठीक से दो वक्त के भोजन के लिए तो पैसे होते नहीं है, तो वह अपने बच्चों को पढ़ाएंगे कैसे ?

लोन मेले में 80 करोड़ क़र्ज़ बांटने की योजना

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री माननीय योगी आदित्यनाथ जी ने उपर्युक्त समस्याओं को देखते हुए कक्षा 12 तक फ्री पढाई  करवाने का निर्णय लिया है जिसके तहत अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति तथा अन्य पिछड़ा वर्ग के गरीब परिवारों के बच्चो को कक्षा 12 तक निःशुल्क पढाई कराई जाएगी। जिससे गरीब बच्चे भी अपने भविष्य को बेहतर बना सकेंगे। इससे प्रदेश के सभी गरीब बच्चे कम से कम कक्षा 12 तक की पढाई फ्री में कर सकेंगे। कक्षा 12 तक फ्री पढाई से वे एक बेहतर प्राइवेट जॉब या फिर एक सरकारी नौकरी कर सकते हैं जिससे उनका जीवन बेहतर हो सकेगा।

मुख्यमंत्री माननीय योगी आदित्यनाथ द्वारा लिया गया कक्षा 12 तक फ्री पढाई का निर्णय प्रदेश के गरीब बच्चों के लिए वरदान है, इससे वह शिक्षित होने के साथ-साथ बेरोजगार भी नहीं रहेंगे। इससे उनकी आने वाली पीढ़ी भी अपना जीवन अच्छे से व्यतीत कर सकेगी। कक्षा 12 तक फ्री पढाई का लाभ गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने वाले परिवार के बच्चों को ही मिलेगा।

कक्षा 12 तक फ्री पढाई का लाभ पाने की पात्रता

  • लाभार्थी अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति तथा अन्य पिछड़ा वर्ग का होना चाहिए
  • लाभार्थी के माता-पिता की वार्षिक आय 2 लाख रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए
  • लाभार्थी उत्तर प्रदेश का मूल निवासी हो
  • यह लाभ प्राइवेट स्कूल में पढ़ने वाले बच्चे को नहीं मिलेगा