DRDO ने रात में की लड़ाकू विमान की अरेस्टेड लैंडिंग

DRDO
image source - google

12 नवम्बर मंगलवार को रात 6:45 पर रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन ने हल्के लड़ाकू विमान की अरेस्टेड लैंडिंग सफलतापूर्वक की,जोकि अद्भुत है। अरेस्टेड लैंडिंग युद्धपोतों पर कराई जाती है, क्योंकि इनका रनवे की लम्बाई तय होती है और ये हल्के लड़ाकू विमान तेज़ गति से उड़ते है और युद्धपोत पर लैंडिंग के समय तेज़ी से गति कम करते है, जिसे अरेस्टेड लैंडिंग कहते है। कल जिस विमान की अरेस्टेड लैंडिंग कराई गयी वो एसबीटीएफ गोवा विमान है जोकि हल्के होते है ऐसे विमानों को ही नौसेना में रखा जाता है। सरल भाषा में युद्धपोतों पर लड़ाकू विमानों को जल्द रुकने के लिए अरेस्टेड लैंडिंग का उपयोग किया जाता है। जैसे कल रात DRDO ने कर दिखाया।

राजनाथ सिंह ने तेजस से भरी उड़ान, घरेलू लड़ाकू विमान से उड़ान भरने वाले पहले रक्षामंत्री