जिलाधिकारी का आदेश, किसानो की समस्या को प्राथमिकता दें अधिकारी

उत्तर प्रदेश में सुलतानपुर के जिलाधिकारी सी इन्दुमती की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में किसान दिवस का आयोजन किया गया। जिसमें कृषक बन्धुओं ने भाग लेकर कृषि सम्बन्धी समस्याओं को उनके सामने रखा। जिलाधिकारी ने किसान दिवस के अवसर पर जनपदीय अधिकारियों को कुछ निर्देश दिए। उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि कृषक बन्धुओें की समस्याओं का हल जल्द से जल्द निकालना शासन की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से एक है। उन्होंने बैठक में दिये गये आदेशों का पालन न करने वाले अधिकारियों को सचेत किया और कहा कि सभी निर्देशों का पालन अगले किसान दिवस से पहले हर हाल में सुनिश्चित करें। ऐसा न करने पर अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।

किसानों ने जिलाधिकारी से की मांग 

इस अवसर पर कृषकों ने जिलाधिकारी को बताया कि सफेद आलू का उत्पादन कर जब उसे कोल्ड स्टोर्स में रखा जाता है तब उस आलू का रंग हरा हो जाता है इसकी वजह से आलू की बिक्री में कठिनाई आ रही है। किसानों ने सफेद आलू के बीज की जगह लाल आलू के बीज की मांग की। जिलाधिकारी ने जिला उद्यान अधिकारी को निर्देश दिया कि वह कृषक बन्धुओं द्वारा की गयी मांग को पूरा करने के लिए शासन को पत्र लिखे, ताकि आलू बीज आवंटन में सफेद बीज के स्थान पर लाल बीज का आवंटन हो सके। 

ईडी ने खनन घोटाले को लेकर देवरिया के पूर्व जिलाधिकारी विवेक से की 9 घंटे तक पूछताछ।

उसके बाद किसानों द्वारा धान की फसल में लगे कीट के कारण हुई फसल नुकसान की क्षतिपूर्ति की बात भी बताई गयी। जिलाधिकारी ने उप निदेशक कृषि को निर्देशित किया कि वह मोदी द्वारा फसल बीमा योजना हेतु अनुबन्धित एजेन्सी से बात करके किसानों को क्षतिपूर्ति मुहैया कराना सुनिश्चित करें। कृषकों द्वारा नहरों की सिल्ट सफाई तथा टेल तक पानी की अपूर्ति, चीनी मिल का संचालन, कृषि यंत्रों की उपलब्धता, बन्द पड़े नलकूपों का संचालन, विद्युत कनेक्शन, माईनरों का दुरस्ती करण, धान क्रय केन्द्रों का संचालन, गन्ना भुगतान, गन्ना पर्ची आदि से सम्बन्धित प्रकरणों की बात रखी गयी।

जिलाधिकारी ने सम्बन्धित अधिकारियों को किसान दिवस से पूर्व इन प्रकरणों के निस्तारण के आदेश दिये। बैठक में उप निदेशक कृषि शैलेन्द्र कुमार शाही ने कहा कि न्याय पंचायत स्तर पर 2 चरणों में किसान पाठशालाओं का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें शासन द्वारा संचालित कृषि की नवीन पद्धतियों कृषक  एवं  बन्धुओं से सम्बन्धित योजनाओं के बारे में बताया जायेगा। प्रथम चरण की किसान पाठशाला 21 से 24 अक्टूबर तथा द्वितीय चरण की पाठशाला 04 से 07 नवम्बर के मध्य आयोजित की जायेगी। उन्होंने कृषक बन्धुओं से आयोजित किसान पाठशालाओं में भाग लेकर लाभ उठाने की अपील की। किसान दिवस में विजय कुमार वर्मा जिला कृषि रक्षा अधिकारी, पन्नालाल जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी, प्रगतिशील किसानों में भोला सिंह, छोटेलाल, शिवपाल सिंह सहित अन्य प्रगतिशील किसान व अधिकारी वहां मौजूद थे।