मऊ हादसे में डीजीपी ओपी सिंह का बड़ा बयान

kamlesh tiwari murder

उत्तर प्रदेश मऊ के वलीदपुर में सोमवार की सुबह बड़ा हादसा हो गया। नाश्ता बनाते समय रसोई गैस सिलेंडर फटने से दो मंजिला मकान ढह गई। इससे 12 लोगों की मौत हो गई। 30 लोग घायल हैं। आधा दर्जन लोग गंभीर बताये जा रहे हैं। विस्फोट से आस पास के कई मकान भी क्षतिग्रस्त हो गए हैं। कुछ घायलों को आज़मगढ़ भेजा गया है। जेसीबी से मलबा हटाकर दबे लोगों को खोजा जा रहा है। आला अधिकारियों की देख रेख में बचाव और राहत का काम चल रहा है। सीएम योगी ने भी अधिकारियों को कई निर्देश दिए हैं।

बता दें की मऊ के वलीदपुर कस्बे के सिलेंडर हादसे की जांच एटीएफ करेगी। डीजीपी ओपी सिंह ने कहा है कि धमाका बहुत पावरफुल था, इसलिए आजमगढ़ से जांच के लिए एटीएस की एक टीम को भेजा जा रहा है। जानकारी के मुताबिक पता चला है की एक और घायल की मृत्यु होने से हादसे में मरने वालों की संख्या 12 हो गई है। डीजीपी ने कहा की 6 साल की एक बच्ची जिसका अभी तक कोई पता नहीं चल पाया है, उसकी तलाश जारी है।

मऊ में रसोई गैस का सिलिंडर फटने से हुई 10 लोगों की मृत्यु

डीजीपी ने बच्ची को मलबे के निचे दबे होने की आशंका जताई है। जिस कारण उन्होंने जेसीबी की बजाय अब मजदूरों के जरिए मलबा हटाने का काम किया जा रहा है। डीजीपी ने ये भी कहा कि मृतकों के पोस्टमार्टम के बाद अवशेष जांच के लिए लैब में भेजे जाएंगे। जानकारी के के अनुसार अभी तक मृतकों में 9 लोगों की शिनाख्त हो गई है। 3 अन्य की शिनाख्त के प्रयास जारी हैं। कस्बे के लोगों में बचाव कार्य शुरू होने एवं पुलिस के देरी से मौके पर पहुंचने को लेकर भारी गुस्सा है। पुलिस प्रशासन और एनडीआरएफ की टीम रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी हैं। ब्लास्ट की जांच के लिए मौके पर एटीएस को रवाना किया गया है।

प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने मऊ में सिलेंडर फटने की घटना और लोगो की मृत्यु पर ट्वीट कर शोक संवेदना व्यक्त की है। साथ ही उन्होंने अपने ट्वीट में कहा कि ऐसी स्थित में मृतको के परिवार को ईश्वर से दुख सहन करने का साहस और बल दे। साथ ही घायल लोगो के शीघ्र स्वाथ्य होने की कामना ईश्वर से की है।