SHO को गोली मारने वाले खनन माफिया को एनकाउंटर में मार गिराया

घायल मोंठ प्रभारी निरीक्षक धर्मेद्र सिंह चौहान

झांसी में शुक्रवार देर रात बदमाशों ने एक बार फिर पुलिस को चुनौती देते हुए थाना मोंठ में तैनात थानाध्यक्ष को गोली मार दी। इस घटना से पूरे क्षेत्र में दहशत का माहौल हो गया। इंस्पेक्टर को गोली मारे जाने की खबर मिलते ही पुलिस में हड़कंप मच गया। रात में ही डीआईजी व एसएसपी मौके पर जा पहुंचे। घायल हुए इंस्पेक्टर को झांसी मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है।

थानों की पुलिस ने भाग निकले बदमाश की तलाश में जिले भर में नाकेबंदी कर दी। उसी समय मोंठ इंस्पेक्टर पर गोली चलाने वाले आरोपी खनन माफिया पुष्पेंद्र यादव की पुलिस से मुठभेड़ हुइ। यह मुठभेड़ गुरसराये इलाके में हो रही थी। पुलिस को देखकर पुष्पेंद्र ने फायरिंग शुरू कर दी। इसी दौरान पुलिस की जवाबी कार्रवाई में गोली लगने से आरोपी पुष्पेंद्र घायल हो गया। उसे लेकर पुलिस जिला अस्पताल पहुंची, जहां डाॅक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। जबकि पुलिस के अनुसार मुठभेड़ के समय उसके साथ मौजूद उसका साथी भागने में सफल रहा।

मोंठ थानाध्यक्ष ने ओवर लोडेड ट्रक सीज किया 

पुलिस द्वारा पता चला है कि मोंठ प्रभारी निरीक्षक धर्मेद्र सिंह चौहान ने दो दिन पहले अवैध खनन के खिलाफ कार्रवाई की थी। उसी बीच एक खनन माफिया का ओवर लोडेड ट्रक सीज कर दिया गया था। इससे माफिया खुन्नस खाए हुए थे।खनन माफिया को धर्मेद्र सिंह चौहान से इसका बदला लेना था।घटना को अंजाम देने के बाद खनन माफिया अपने साथी के साथ कार भी लूट ले गए। थानों की पुलिस मौके पर पहुंच गई। मौके से पुलिस को बाइक और कारतूस बरामद हुए हैं।

अयोध्या: एनबीएसए ने समाचार चैनलों के लिए जारी की एडवाइजरी

थानाध्यक्ष धर्मेंद्र सिंह चौहान कुछ दिन पहले छुट्टी पर अपने घर कानपुर गए थे। शनिवार की रात मोंठ इंस्पेक्टर कानपुर से अपनी कार से मोंठ आ रहे थे। खनन माफिया ने रास्ते में थानाध्यक्ष को फोन कर कहा कि वह मिलना चाहता है। इंस्पेक्टर ने उन खनन माफिया को मोंठ से पहले हाइवे पर मिलने के लिए बुलाया। कार से इंस्पेक्टर के पहुंचते ही फायरिंग शुरू हो गयी। माफिया और उसके साथी ने इंस्पेक्टर पर हमला कर दिया। घटना की जानकारी पाकर डीआईजी सुभाष सिंह बघेल, एसएसपी डॉ. ओपी सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक देहात राहुल मिठास समेत कई थानों के पुलिस मौके पर पहुंच गई।

एसएसपी डॉ. ओपी सिंह ने बताया कि दो दिन पहले मोंठ इंस्पेक्टर ने एक बालू माफिया की गाड़ी के खिलाफ कार्रवाई करते हुए सीज कर दी थी। उसी का बदला लेने के लिए बदमाशों ने इस घटना को अंजाम दिया। एसएसपी ने बताया कि बदमाशों की तलाश में छापेमारी की जा रही है। इंस्पेक्टर की हालत स्थिर बताई जा रही है, एसएसपी ने बताया कि गोली इंस्पेक्टर के गाल को छूते हुए निकल गई।