गूगल मैप से जुटाया था हत्यारों ने कमलेश तिवारी का पता

kamlesh tiwari accused arrested
  • हत्यारों को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस ने को लगा दिया है 10 टीमें
  • हत्यारों की लोकेशन हरदोई से मुरादाबाद होते हुए गाजियाबाद पायी गई

उत्तर प्रदेश के लखनऊ में कमलेश तिवारी की हत्या को लेकर पुलिस छानबीन करने में लगी हुई है। पुलिस ने बताया कि हत्यारों ने गूगल मैप की मदद से कमलेश तिवारी की पूरी जानकारी जुटाया और कमलेश तिवारी का पता ढूंढ कर खुर्शेदबाग पहुंचे थे। यह दोनों हत्यारे कमलेश तिवारी की हत्या करने ट्रेन से लखनऊ आए थे तथा चारबाग रेलवे स्टेशन पर पहुँच कर कमलेश के घर का पता पूछा और गणेशगंज पहुंच गए।

पुलिस के मुताबिक़ दोनों हत्यारों की लोकेशन हरदोई से मुरादाबाद होते हुए गाजियाबाद पायी गई है। पुलिस ने हत्यारों का पता लगाने के लिए 3 मोबाइल नंबरों की चांच किया है जिसमे 17 अक्टूबर को एक नंबर एक्टीवेट हुआ था जो राजस्थान का पाया गया। हत्यारों ने हत्याकांड के एक दिन पहले लगभग 12:30 बजे कमलेश को रात को फोन किया था और जांच पड़ताल करने पर यह मोबाइल नंबर कानपुर देहात के एक टैक्सी चालक का निकला।

काशी में गंगा नदी में विसर्जित की गईं कमलेश तिवारी की अस्थियां

हत्याकांड में शामिल सभी हत्यारों को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस ने अलग अलग क्षेत्रों में 10 टीमों को लगा दिया है जिसमे गुजरात भेजी गई टीम को लखनऊ के एसपी क्राइम लीड कर रहे हैं। गुजरात के सभी हवाई अड्डों से दिल्ली तथा लखनऊ की तरफ जाने वाले सभी हवाई जहाज़ के यात्रियों से भी पुलिस पूछताछ कर रही है।